केंद्रीय मंत्री हरसिमरत ने कहा- सिख इतिहास खत्म करने में लगी है कैप्टन सरकार    

केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर बादल ने पंजाब की कैप्टन अमरिंदर सिंह सरकार पर सिख गुरुओं का इतिहास खत्म करने का आरोप लगाया। कहा कि कैप्टन एक सिख हैं और उनके नेतृत्व वाली सरकार ही सिख इतिहास खत्म करने में लगी हुई है। कक्षा पांचवीं की पुस्तकों से ही धार्मिक गुरुओं का जिक्र होना शुरू हो जाता है जो कि बारहवीं कक्षा तक चलता है।

उन्होंने कहा कि इन चैप्टर्स में एक-एक गुरु का जिक्र होता है, लेकिन इससे ज्यादा शर्म की बात और क्या हो सकती है कि किताबों में धार्मिक गुरुओं का इतिहास खत्म किया जा रहा है। इतना ही नहीं, कांग्रेस इसमें अपनी उपलब्धियों का जिक्र कर रही है।

हरसिमरत कौर बादल गिल रोड स्थित गुरु नानक देव इंजीनियरिंग कालेज में दीक्षा समारोह में हिस्सा लेने पहुंची थी। उन्होंने कहा कि कैप्टन सरकार इस बात पर एक्शन लेने की जगह लीडरों को बचाने में लगी हुई है। पीएसईबी एजुकेशन सेक्रेटरी कृष्ण कुमार को किताबों के पहले पेज में क्रेडिट देने में लगे हैं, जबकि उन्हें लेकर आने वाली कांग्रेस सरकार ही है।

कांग्रेस सरकार ने अब तक धक्केशाही ही की है। थानों में पुलिस को भी शर्म आनी चाहिए जो कि कांग्रेस के इशारों पर काम कर रही है। शव रख प्रदर्शन करने वाले परिजनों की पुलिस ही मार-पिटाई कर रही है। ये सरकार है या कोई मजाक? समझ नहीं आ रहा।

दुष्कर्मियों को फांसी दे देनी चाहिए

बच्चियों, महिलाओं के साथ दिनों दिन बढ़ रहे दुष्कर्म के मामलों के संबंध में हरसिमरत ने कहा कि कानून तो बन रहे हैं, लेकिन सजा होने का किसी को डर नहीं है। ऐसे अपराधियों को पच्चीस फीसद भी सजा नहीं मिल पा रही है, इन्हें तो सीधा फांसी लगा देनी चाहिए। बारह साल तक की बच्चियों के साथ दुष्कर्म मामले में सरकार ने जो कानून बनाया है, वह फैसला सराहनीय है लेकिन अगर कानून सख्ती से लागू हो तो दुष्कर्म के मामले बंद हो सकेंगे। 

एसवाईएल मुद्दे पर हरसिमरत ने कहा कि पंजाब का पानी हमेशा ही धक्के से दूसरे राज्यों में भेजा गया। अकाली दल इसके लिए कोई नहर नहीं बनने देगी और संघर्ष करती रहेगी। वहीं प्रोफेशनल टैक्स लगाना कांग्रेस के किसी एजेंडे में शामिल नहीं था। इसका प्रभाव मुलाजिमों पर होगा जिसके हर माह दौ सौ रुपये कटेंगे और इस हिसाब से चौबीस सौ रुपये साल के जाएंगे।

हरसिमरत ने कहा कि खजाना खाली है कहकर सरकार लोगों को गुमराह करने में लगी है। मंडियों में किसानों का बुरा हाल है। किसान आत्महत्याएं करने को मजबूर हो रहे हैं। कांग्रेस की विरोधी पार्टी बी टीम अब कहां है जो शेरो शायरी करने में लगी रहती थी। अब बेअदबी हो रही है, किसान आत्महत्या कर रहे हैैं, अब वह कुछ क्यों नहीं बोल रहे।

लुधियाना के लाडोवाल में बने फूड पार्क के एक सवाल में हरसिमरत ने बोला कि कांग्रेस ने इसकी जमीन कीमत बहुत बढ़ा दी है जिसके चलते अब कोई आ ही नहीं रहा है। कांग्रेस सरकार को समझना चाहिए था कि कीमत बढ़ाना कोई ‘कॉफी मीटिंग’ का मुद्दा नहीं है यह किसानों के भले के लिए है। उन्होंने कहा कि इस संबंध में मुख्यमंत्री को पत्र भी लिखा जा चुका है। अकाली दल 2019 में कांग्रेस को मुंह तोड़ जवाब देगी।

Loading...
E-Paper