फ्रांस की रक्षा कंपनियों के साथ आज रक्षामंत्री राजनाथ सिंह करेंगे बैठक, होगी ये बड़ी चर्चा…

Loading...

फ्रांस की राजधानी पेरिस में रक्षामंत्री राजनाथ सिंह की आज फ्रांस की रक्षा कंपनियों के साथ बैठक होगी. इससे पहले राजनाथ सिंह राफेल बनाने वाली कंपनी दसॉल्ट के प्लांट में जाएंगे.

वहीं दशहरा के दिन फ्रांस ने भारत को औपचारिक तौर पर पहला लड़ाकू विमान राफेल सौंप दिया है. इस दौरान राजनाथ सिंह ने मेरिनेक एयरबेस पर शस्त्र पूजा की. वायुसेना के लिए 8 अक्टूबर का दिन ऐतिहासिक रहा. फ्रांस ने भारत को RB 001 राफेल विमान सौंप दिया. रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने विजयदशमी के मौके पर मंगलवार को 36 राफेल विमानों में से पहले विमान को औपचारिक रूप से हासिल कर लिया.

रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने फ्रांस में मंगलवार को कहा कि राफेल सौदा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की निर्णायक क्षमता के कारण संभव हुआ. उन्होंने कहा, ‘राफेल विमान के अधिग्रहण के बाद भारत की सामरिक क्षमता निश्चित रूप से बढ़ी है. लेकिन हमले के लिहाज से नहीं, बल्कि आत्मरक्षा के लिहाज से यह बढ़ी है.’

राजनाथ सिंह ने पहला राफेल लड़ाकू विमान हासिल करने के बाद शस्त्र पूजन किया. उसके बाद उन्होंने राफेल विमान में 30 मिनट की उड़ान भरी.

क्या है राफेल विमान की कीमत?

इधर, दसॉ एविएशन के सीईओ Eric Trappier ने कहा कि आज हमारे लिए गर्व का पल है. साथ ही भारतीय वायुसेना के लिए भी बड़ा दिन है. उन्होंने कहा कि हमने वही किया जो करार में था. बता दें कि भारत ने फ्रांस और दसॉ एविएशन के साथ 36 राफेल विमान के लिए एक अंतर-सरकारी समझौता किया है. इन विमानों की कीमत 59,000 करोड़ रुपये है.

Loading...