कुशीनगर में अनियंत्रित पिकअप ने चार को रौंदा, तीन महिलाओं समेत चार की मौत

Loading...

कुशीनगर के पटहेरवा थाना क्षेत्र के राष्ट्रीय राजमार्ग 28 पर लबनिया चौराहे के समीप रविवार की शाम फाजिलनगर से तमकुहीराज की ओर जा रही पिकअप अनियंत्रित होकर चार लोगों को रौंदते हुए पानी भरे गड्ढे में पलट गई। इस दुर्घटना में दो महिला समेत तीन लोगों की मौके पर ही मौत हो गई। तीसरी गंभीर रूप से घायल महिला की जिला अस्पताल ले जाते समय रास्ते में मौत हो गई। मरने वालों में तीनों उसी गांव की महिलाएं व एक राहगीर शामिल हैं।

घटना के समय महिलाएं हाइवे के किनारे बकरी चरा रही थीं। इसके बाद भाग रहे चालक को पकड़ कर ग्रामीणों ने पुलिस को सौंप दिया। दुर्घटना के बाद लबनिया चौराहे पर लगभग एक घंटे तक अफरा-तफरी का माहौल बना रहा। मृतकों की पहचान प्रभावती देवी (42) पत्नी बिग्गू ठाकुर, इंदू देवी पत्नी रामकिशोर चौहान निवासी लबनिया तथा लक्ष्मण ( 54) पुत्र छेदी निवासी कोयर पट्टी थाना पटहेरवा के रूप में हुई, जबकि बुरी तरह घायल चंद्रावती देवी (55) पत्नी जज चौहान की जिला अस्पताल ले जाते समय रास्ते में मौत हो गई। प्रभारी निरीक्षक हरेंद्र मिश्र ने बताया कि आरोपित चालक पुलिस कब्जे में है। आवश्यक कार्रवाई की जा रही है। दुर्घटना में हुई चार लोगों की मौत के कारण क्षेत्र में शोक की लहर है। जिन परिवारों की महिलाएं काल की गाल में समाई हैं, उनके परिजन बदहवास हैं।

ग्रामीणों व पुलिस के बीच नोकझोंक, चक्का जाम

हाईवे के लबनिया चौराहे पर पिकअप से रौंदे जाने के बाद तीन महिलाओं सहित चार लोगों की मौत के बाद आक्रोशित ग्रामीणों व पुलिस के बीच नोंकझोंक व हाथापाई हुई। घटनास्थल पर पुलिस के विलंब से पहुंचने का आरोप लगा ग्रामीणों ने एनएच जाम कर दिया। जबकि हाईवे की एबुलेंस पुलिस से पहले आ गई। पुलिस का कहना है कि सूचना मिलते ही मौके पर पहुंच गई। गुस्साए लोगों ने पुलिस के खिलाफ नारेबाजी की व सड़क जाम कर दिया। घटनास्थल पर पहुंचे थाना प्रभारी व अन्य पुलिस कर्मियों से हाथापाई व नोकझोंक हुई। लगभग पांच किमी तक जाम लग गया। पुलिस ने धैर्य का परिचय देते हुए समझा-बुझाकर आधे घंटे में जाम समाप्त कराया। पुलिस ने बताया कि पकड़ा गया चालक लक्ष्मण पुत्र हरिनंदन राव नालंदा बिहार का रहने वाला है।

Loading...