भाजपा अध्यक्ष अमित शाह कल सोनिया के क्षेत्र रायबरेली में करेंगे शंखनाद

लखनऊ। भाजपा अध्यक्ष अमित शाह का शनिवार को रायबरेली दौरा प्रस्तावित है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डॉ. महेंद्र नाथ पांडेय के अलावा दोनों उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य व डॉ. दिनेश शर्मा और कई मंत्री भी वहां जाएंगे। यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी के संसदीय क्षेत्र में शाह के इस दौरे को महत्वपूर्ण माना जा रहा है। शाह कांग्रेस के गढ़ में न केवल भाजपा का किला मजबूत करेंगे बल्कि, कांग्रेस के मजबूत स्तंभों को भी भाजपा से जोडऩे की पहल होगी।

रायबरेली में विधान परिषद सदस्य दिनेश सिंह और उनके दो भाई जिला पंचायत अध्यक्ष अवधेश सिंह तथा विधायक राकेश सिंह का राजनीतिक दबदबा है। इनकी गांधी परिवार से करीबी रही है, लेकिन कुछ महीनों से इनका कांग्रेस से मोहभंग होने लगा। अमित शाह के कार्यक्रम में दिनेश सिंह और अवधेश सिंह भाजपा में शामिल होंगे। राकेश सिंह के नाम पर अभी चुप्पी है।

इस दांव से भाजपा कांग्रेस को कमजोर करने और रायबरेली की सीट पर अपनी मजबूती की पहल करेगी। 2014 के लोकसभा चुनाव में भाजपा ने सोनिया गांधी के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट के अधिवक्ता अजय अग्रवाल को मैदान में उतारा था। सोनिया को करीब साढ़े पांच लाख वोट मिले थे जबकि अजय अग्रवाल पौने दो लाख पर ही सिमट गए थे। इस बार भाजपा चौतरफा घेरेबंदी में जुट गई है और कांगे्रस के रणनीतिकारों को ही अपने पाले में करने में जुटी है।

Loading...

दरअसल, भाजपा की निगाह 2014 में हाथ से फिसल गई उन सीटों पर है जो कांग्रेस और सपा के कब्जे में हैं। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के क्षेत्र अमेठी में पिछले साल अमित शाह रैली कर चुके हैं। केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी लगातार अमेठी में सक्रिय हैं। ईरानी ने भाजपा सांसदों के उपवास के अगले दिन अमेठी में जाकर राहुल गांधी पर हमला बोला था।

भाजपा अध्यक्ष अमेठी और रायबरेली के बाद जल्द ही आजमगढ़, कन्नौज, बदायूं, फीरोजाबाद, मैनपुरी, गोरखपुर और फूलपुर में भी जा सकते हैं। भाजपा इन क्षेत्रों में नए सिरे से अपनी जमीन मजबूत करने में जुट गई है। भाजपा के बूथ पदाधिकारियों से लेकर विस्तारकों तक को एक-एक छोर पर लगा दिया गया है।  

Loading...