अगर किम के साथ मीटिंग अच्छी नहीं रही तो मैं उठकर चला जाऊंगा: डोनाल्ड ट्रंप

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को नॉर्थ कोरियन लीडर किम जोंग उन के साथ होने वाली मीटिंग से काफी उम्मीदें हैं. हालांकि, उन्होंने कहा कि अगर मीटिंग उनकी उम्मीद को पूरा करने में नाकाम रहीं तो वह मीटिंग से बाहर आ जाएंगे. ट्रंप ने कहा कि वह कोरियाई प्रायद्वीप में डिसार्ममेंट (निशःस्त्रीकरण) पर चर्चा करने के लिए आने वाले हफ्तों में किम जोंग उन के साथ मुलाकात करेंगे.

ट्रंप ने फ्लोरिडा के मार-ए-लागो में जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे के साथ ज्वाइंट प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए कहा, “अगर हमें नहीं लगेगा कि यह सफलतापूर्वक हो रहा है तो हम नहीं करेंगे. अगर मुझे लगता है कि बैठक से कोई नतीजा नहीं निकलने जा रहा तो हम नहीं जाएंगे.” उन्होंने कहा, “अगर मीटिंग में कोई नतीजा नहीं निकलेगा तो मैं सम्मानपूर्वक मीटिंग से बाहर आ जाऊंगा और फिर वही करुंगा जो हम कर रहे हैं.” इससे एक दिन पहले ट्रंप ने पत्रकारों से कहा था कि वह जून या उससे पहले किम से मुलाकात कर सकते हैं.

दोनों देशों के नेता मीटिंग के लिए पांच अलग-अलग जगहों पर विचार कर रहे हैं लेकिन इनमें से कोई भी अमेरिका में नहीं है.ट्रंप ने कहा कि अगर मीटिंग अच्छी रहती है तो यह दुनिया के लिए अद्भुत होगा. उन्होंने कहा,उम्मीद करता हूं कि मीटिंग बहुत सफल रहेगी और हम इसे लेकर उत्साहित हैं.”

Loading...

अमेरिकी राष्ट्रपति ने उत्तर कोरिया और दक्षिण कोरिया के बीच मीटिंग्स के सिलसिले के बाद उम्मीद जताई कि कोरियाई प्रायद्वीप ‘सुरक्षित, समृद्ध और शांतिपूर्वक’ रह सकता है. उन्होंने कहा कि किम के साथ चर्चा के मुद्दों में उत्तर कोरिया में तीन अमेरिकी कैदियों की रिहाई का मुद्दा भी शामिल होगा.

ट्रंप ने उत्तर कोरिया पर उनको सहयोग देने के लिए चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग की भी तारीफ की. जापान के प्रधानमंत्री ने उत्तर कोरिया के संबंध में ट्रंप के प्रयासों के लिए उनका समर्थन किया और उत्तर कोरिया के पूरी तरह निशःस्त्रीकरण की मांग की. आबे ने कहा कि ट्रंप के साथ बातचीत में दोनों देश आगामी अमेरिका-नॉर्थ कोरिया सम्मेलन के संबंध में समझौते पर पहुंचे.

Loading...
E-Paper