सेक्स के दौरान महिलाओं को अच्छी नहीं लगती ये चीजें

Loading...

जब बात सेक्स की आती है तो हर किसी की अपनी पसंद-नापसंद होती है। कोई एक फॉर्मूला हर किसी पर लागू नहीं हो सकता। बहुत से लोगों को लवमेकिंग से पहले फोरप्ले करना अच्छा लगता है तो वहीं कुछ लोग ऐसे भी हैं जो सीधे इंटरकोर्स करना शुरू कर देते हैं ताकि ऐक्ट को तुरंत खत्म कर सकें। यूके की एक पॉप्युलर सेक्स टॉय कंपनी ने एक सर्वे किया है जिसके जरिए उन्होंने यह जानने की कोशिश की कि आखिर सेक्स के दौरान महिलाओं को कौन सी बातें पसंद नहीं आती।

​क्लाइमैक्स तक पहुंचती हैं 10 में 7 महिलाएं

इस सर्वे के दौरान कंपनी ने यूके, अमेरिका और ऑस्ट्रेलिया के 3 हजार लोगों से उनकी सेक्शुअल लाइफ से जुड़े कुछ सवाल पूछे। सर्वे के नतीजे बताते हैं कि जहां 10 में से 9 पुरुष यानी 90 प्रतिशत सेक्स के दौरान ऑर्गैज्म महसूस करते हैं वहीं महिलाओं के लिए सेक्स के दौरान ऑर्गैज्म और क्लाइमैक्स हासिल करने का आंकड़ा 10 में सिर्फ 7 है यानी 70 प्रतिशत।

​फोरप्ले न करना

सर्वे में शामिल करीब 30 प्रतिशत महिलाओं का कहना था कि सेक्शुअल ऐक्ट से पहले अगर सही ढंग से फोरप्ले ना हो तो उन्हें बेहद निराशा महसूस होती है। फोरप्ले एक तरह से ऐप्टिाइजर की तरह है जिसे मेन कोर्स से पहले सर्वे किया जाता है। इसलिए सभी पुरुष ध्यान दें कि मेन ऐक्ट से पहले थोड़ा समय और एनर्जी अपनी फीमेल पार्टनर को खुश करने के लिए फोरप्ले में भी दें, तभी पार्टनर के लिए भी ऐक्ट प्लेजरेबल बन पाएगा।

शरीर को लेकर असहज बना देना

हो सकता है बच्चे के जन्म के बाद महिलाएं अपनी बॉडी को लेकर पहले की तरह कॉन्फिडेंट फील न करें, हो सकता है पीरियड्स की वजह से वह ब्लोटेड फील कर रही हो। लिहाजा यह मेल पार्टनर की जिम्मेदारी है कि वह अपनी फीमेल पार्टनर को सेक्स के दौरान उसकी बॉडी को लेकर कमेंट करने या कॉन्शस बनाने की बजाए कंफर्टेबल फील करवाए ताकि आपकी फीमेल पार्टनर सेक्स के दौरान टेंशन फ्री रहें।

​अपने सेक्शुअल एक्सपीरियंस का अहंकार

आप सेक्स को लेकर कितने एक्सपीरियंस्ड हैं, आपके पहले कितने सेक्शुअल इन्काउंटर्स रह चुके हैं और आपको सेक्स के बारे में कितना पता है, अपने इस ज्ञान को अपनी फीमेल पार्टनर के सामने शोऑफ न करें। बात-बात में अपने सेक्शुअल अहंकार को फीमेल पार्टनर के सामने जताना महिलाओं को बिलकुल पसंद नहीं आता। लिहाजा आप जितने विनम्र बनेंगे उतने ही फायदे में रहेंगे।

​ऑर्गैज्म हुआ या नहीं, इसे बार-बार पूछना

सेक्स के दौरान महिलाओं को पुरुषों की यह बात बिलकुल पसंद नहीं आती। फीमेल ऑर्गैज्म को लेकर इतनी सारी बातें की जाती हैं कि पुरुषों के दिमाग में भी इसे लेकर कई तरह के सवाल होते हैं कि उनकी पार्टनर क्लाइमैक्स तक पहुंची या नहीं। लेकिन बार-बार अपनी फीमेल पार्टनर से यह पूछना कि उसे ऑर्गैज्म हुआ या नहीं, उनके लिए निराशाजनक हो सकता है।

​उसके शरीर को जरूरत से ज्यादा एक्सप्लोर करना

बहुत से पुरुष सेक्स के दौरान महिलाओं के शरीर और हर एक बॉडी पार्ट को इस तरह ट्रीट करने लगते हैं मानो वह कोई उनके सामने पड़ा ऑब्जेक्ट है जिसे उन्हें एक्सप्लोर करना है। इस तरह की हरकतें भी सेक्स के दौरान महिलाओं को अच्छी नहीं लगती है और उनका मूड ऑफ हो सकता है।

​पॉर्न क्लिप की रियल लाइफ में नकल करना

बहुत से लोग पॉर्न को सेक्स की जानकारी का अहम जरिया मानते हैं जो पूरी तरह से गलत है। इसलिए स्क्रीन पर जो भी दिख रहा है उसे रियल लाइफ में उतारने की कोशिश करना आपकी सबसे बड़ी गलती है। लिहाजा अपनी सेक्स लाइफ और अपनी फीमेल पार्टनर की पॉर्न स्टार्स से तुलना करना बंद करें।

Loading...