तमिलनाडु: कावेरी मुद्दे पर वाइको के भतीजे ने किया आत्मदाह का प्रयास

तमिलनाडु में कावेरी मैनेजमेंट बोर्ड बनाने की मांग का मुद्दा लगातार बढ़ता जा रहा है. MDMK नेता वाइको के भतीजे श्रवण सुरेश ने इस मुद्दे पर गुरुवार को आत्मदाह का प्रयास किया. 50 वर्षीय सुरेश ने विरुधुनगर में एक पार्क में आत्मदाह का प्रयास किया. इस मामले पर एमडीएमके के संस्थापक वाइको ने शुक्रवार को कहा कि उनके एक निकट संबंधी ने कावेरी जल विवाद से व्यथित होकर विरुधुनगर में आत्मदाह का प्रयास किया, उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

इसके बाद एमडीएमके नेता ने लोगों से खुद को नुकसान पहुंचाने वाली गतिविधियों से दूर रहने को कहा है. वाइको ने कहा कि श्रवण सुरेश (पीड़ित) गुरुवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के चेन्नई दौरे के विरोध में दिए गए उनके भाषण को सुनने के बाद व्यथित हो गया. आपको बता दें कि श्रवण सुरेश, वाइको की पत्नी रेणुका देवी के भाई का बेटा है.

वाइको के मुताबिक, सुरेश ने शुक्रवार सुबह कहा कि वह सैर के लिए जा रहा है, लेकिन हमें बाद में पता चला कि उसने कावेरी मुद्दे से व्यथित होने के कारण खुद पर केरोसिन छिड़क लिया और आग लगा दी. वाइको ने कहा, “मैंने उसके जीवित बचने की उम्मीद खो दी थी, मेरे परिवार में सभी इस घटना से दुखी हैं. उन्होंने कहा कि सुरेश को मदुरई के अपोलो अस्पताल ले जाया गया है.

Loading...

गौरतलब है कि तमिलनाडु की राजनीतिक पार्टियां और विभिन्न संगठन कावेरी प्रबंधन बोर्ड (सीएमबी) और कावेरी जल नियामक समिति (सीडब्ल्यूआरसी) का गठन नहीं किए जाने को लेकर केंद्र सरकार के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं. 

सर्वोच्च न्यायालय ने 16 फरवरी को तमिलनाडु को होने वाली कावेरी नदी के जल की आपूर्ति 192 टीएमसी से घटाकर 177.25 टीएमसी कर दी थी. वहीं, कर्नाटक की जल हिस्सेदारी बढ़ाकर 14.75 टीएमसी कर दी थी. अदालत ने केंद्र सरकार के आदेश के छह सप्ताह के भीतर सीएमबी का गठन करने का आदेश दिया था. लेकिन सरकार इस समय सीमा में बोर्ड का गठन करने में असफल रही. यह समय सीमा 29 मार्च को समाप्त हो गई थी.

Loading...