आगरा ताजमहल में आंधी-तूफान के कारण हुआ काफी भारी नुकसान

आगरा। ताजनगरी में कल देर रात के बाद आज तड़के तेज आंधी व तूफान ने काफी तबाही मचा दी। इसके कारण विश्व की सबसे खूबसूरत इमारत ताजमहल को भी खासा नुकसान हुआ है। आगरा में तूफान के बाद ताजमहल को काफी नुकसान पहुंचा है। दुनिया भर में सातवें अजूबे के तौर पर मशहूर ताजमहल को आंधी-पानी से नुकसान पहुंचा है। भारी बारिश और आंधी की वजह से ताजमहल परिसर में स्थित एक पिलर का हिस्सा टूट कर गिर गया है। हालांकि, अभी तक किसी के हताहत की सूचना नहीं मिली है। ताजमहल के एंट्री गेट के एक पिलर का हिस्सा गिर गया। तेज हवा के साथ भारी बारिश की वजह से ताजमहल के दक्षिणी गेट पर स्थित पिलर गिर गया।

यहां पर रॉयल गेट का पिलर टूटकर गिरने से दिव्यांग पर्यटकों के लिए बनाया गया रैंप टूटा गया। इसके साथ ही वीडियो प्लेटफॉर्म की फर्श कई जगह से धंस गई है। ताजमहल में दक्षिणी गेट का पिलर टूटकर छत की दीवार पर ही टिक गई है, इसको बड़ा खतरा माना जा रहा है। यहां दीवार का पत्थर चटक गया है जबकि गुलदस्ता टूटकर नीचे गिर गया।

सरहिंदी बेगम के मकबरे का गुलदस्ता टूटकर गिरने से शेड क्षतिग्रस्त हो गया है तो पश्चिमी गेट से लगे फतेहपुरी बेगम के मकबरे की बाहरी दीवार का बड़ा पत्थर निकलकर गिर पड़ा है। सरहिंदी बेगम के मकबरे की बाहरी दीवार से काफी बड़ा पत्थर निकलकर गिरा है। यहां पर सती उन्नीसा के मकबरे का गुलदस्ता टूटकर गिरा। ताजमहल के प्रवेशद्वार के दो गुलदस्ता पिलर धाराशाई हो गए।

Loading...

इसके सात भीमनगरी का मंच भी गिर गया। शाहगंज में मस्जिद की मीनार भी गिरी है। प्रेम की अमर निशानी ताजमहल के दो गेटों की मीनारें गिरने के साथ मुख्य स्मारक को भी नुकसान पहुंचा है। तेज हवा रुकने के बाद ही यहां भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण ने सुबह ही नुकसान की फोटोग्राफी कराई है। 

Loading...