राज ठाकरे की पेशी ईडी के दफ्तर में – MNS नेता संदीप देशपांडे हिरासत में लिए गए

Loading...

महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (एमएनएस) अध्यक्ष राज ठाकरे को प्रवर्तन निदेशालय का नोटिस दिए जाने के बाद पुलिस और प्रशासन हरकत में है। ठाकरे गुरुवार को ईडी के सामने पेश होने के लिए अपने बेटे और बेटी के साथ पहुंचे हैं। ऐसे में एमएनएस कार्यकर्ता किसी तरह का हंगामा न करें, इसे लेकर पुलिस चौकन्नी है। इसके मद्देनजर गुरुवार सुबह एमएनएस नेता संदीप देशपांडे को हिरासत में ले लिया गया है। गौरतलब है कि कोहिनूर सीटीएनएल इन्फ्रास्ट्रक्चर कंपनी में आईएल ऐंड एफएस द्वारा 450 करोड़ रुपये की इक्विटी निवेश और कर्ज से जुड़ी कथित अनियमियतताओं की जांच के सिलसिले में ईडी ने राज ठाकरे को नोटिस जारी किया है। 

कार्यकर्ताओं को नोटिस 
बता दें कि ठाकरे की पेशी के मामले में कानून-व्यवस्था की समस्या से बचने के लिए पुलिस ने धारा 149 के तहत एमएनएस कार्यकर्ताओं और पदाधिकारियों को नोटिस जारी किया है। नोटिस में आगाह किया कि कानून-व्यवस्था का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। इसी कड़ी में गुरुवार को सुबह एहतियात के तौर पर देशपांडे को हिरासत में ले लिया गया। 

बढ़ाई गई सुरक्षा 
महाराष्ट्र पुलिस के एक सीनियर ऑफिसर ने बताया है कि ठाणे, नासिक, पुणे और पिंपरी-चिंचवाड़, जहां एमएनएस का दबदबा है, इन इलाकों में सुरक्षा बढ़ा दी गई है। मरीन ड्राइव, एमआरए मार्ग, दादर और आजाद मैदान पुलिस स्टेशन के इलाकों में धारा 144 लागू कर दी गई है। ईडी के मुंबई ऑफिस के बाहर भी सुरक्षा बढ़ा दी गई है। 

राज ने की शांत रहने की अपील 

ईडी का नोटिस मिलने के बाद राज ठाकरे ने अपने कार्यकर्ताओं से कहा है कि इससे पहले भी मुश्किलें आईं हैं लेकिन मुश्किलों से लड़कर उन पर विजय पाई गई है। राज ने अपने समर्थकों से कहा, ‘ईडी को मुझसे कुछ सवाल पूछने हैं, मैं उनके सवालों का उचित जवाब दूंगा लेकिन मेरी अपील है कि आप लोग शांत रहें। कोई ईडी कार्यालय के बाहर जमा न हो। एमएनएस कार्यकर्ताओं के किसी भी काम से जनता को तकलीफ नहीं होनी चाहिए, न ही किसी निजी या सार्वजनिक संपत्ति का नुकसान होना चाहिए। इस विषय में सही वक्त आने पर मुझे जो बोलना है मैं बोलूंगा, तब तक आप लोग खुद का और अपने परिवार का ख्याल रखो।’ 

राज के बचाव में उद्धव 

उद्धव ठाकरे ने मातोश्री में मीडिया से बात करते हुए राज को मिले नोटिस पर कहा, ‘मुझे नहीं लगता कि ईडी द्वारा राज ठाकरे से की जाने वाली पूछताछ से कोई नतीजा निकलेगा।’ उद्धव की इस टिप्पणी की राजनीतिक गलियारों में चर्चा होनी शुरू हो गई है। यह टिप्पणी इसलिए महत्व रखती है, क्योंकि राज्य में साल के आखिर में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं। 

Loading...