सिख दंगों और बिहार नरसंहारों के लिए राहुल-तेजस्वी करें प्रायश्चितः सुशील मोदी

- in बिहार, राजनीति

बिहार के उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी ने राजद पर एक बार फिर से पलटवार किया है. उन्होंने कहा कि जिन लोगों ने गरीबों-पिछड़ों को धोखा देकर 15 साल तक बिहार को लूटा और पशुओं के चारा से लेकर मिट्टी-जमीन तक का घोटाला कर करोड़ों रुपये की निजी सम्पत्ति बनाई, वे एनडीए की साफ-सुथरी सरकार के खिलाफ दुष्प्रचार अभियान चला रहे हैं.

उन्होंने कहा कि साल 1984 के सिख दंगों और बिहार में हुए 29 नरसंहारों के लिए राहुल गांधी व तेजस्वी यादव को प्रायश्चित करना चाहिए. सुशील मोदी ने कहा कि जो खुद अच्छी शिक्षा नहीं प्राप्त कर सका, वह चंद्रगुप्त प्रबंधन संस्थान, बीआईटी, आईआईटी और अंतरराष्ट्रीय नालंदा विश्वविद्यालय जैसे उच्च शिक्षा संस्थानों को उपहार देने वाली सरकार पर शिक्षा के सत्यानाश का आरोप लगा रहा है. सिर्फ झूठे प्रचार से काम चलता, तो राजद सिर्फ चार सांसदों का दल न रह गया होता.

उन्होंने कहा कि हत्या व अपहरण के कई मामलों में सजायाफ्ता शहाबुद्दीन और नाबालिग छात्रा से दुष्कर्म के आरोपी विधायक राजबल्लभ यादव को राजद से निष्काषित नहीं किया गया. इनके दोनों के अपराध का समर्थन करने वाली पार्टी राजद राजगीर में मेला ठेकेदार की हत्या के आरोपी नेता की गिरफ्तारी के विरुद्ध बाजार बंद करा रही है. ऐसी राजनीति करके राजद पर्यटन उद्योग से रोजी-रोटी कमाने वालों के पेट पर लात मार रही है. 

Loading...

सुशील मोदी ने सवाल किया कि क्या वे लोग बापू के असली वारिस हैं, जो बिहार में शराब-बालू माफिया का बचाव करते हैं. साथ ही शराबबंदी के विरोध में फर्जी आंकड़े देकर भ्रम फैलाते हैं और दलितों के आंदोलन में घुसकर हिंसा व आगजनी को हवा देते हैं. कश्मीर की आजादी के नारों का समर्थन करने वाले राहुल गांधी भी क्या बापू के असली वारिस हैं, जो अपने देश के विदेश मंत्रालय से ज्यादा चीनी राजदूत पर भरोसा करते हैं. साल 1984 के सिख दंगों और बिहार में हुए 29 नरसंहारों के लिए राहुल गांधी व तेजस्वी यादव को प्रायश्चित करना चाहिए.

Loading...