राम गोपाल यादव का संकेत, सम्भल से लड़ेंगे लोकसभा 2019 का चुनाव

सम्भल। समाजवादी पार्टी अब लोकसभा चुनाव 2019 को लेकर बेहद गंभीर है। यह तो तय है कि पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव कन्नौज से तथा मुलायम सिंह यादव मैनपुरी से मैदान में उतरेंगे। लोकसभा सांसद धर्मेंद्र यादव का बदायूं से एक बार फिर मैदान में आना तय है। इसी बीच पार्टी के राष्ट्रीय मुख्य महासचिव प्रोफेसर रामगोपाल यादव ने भी सम्भल से लोकसभा चुनाव लडऩे का ऐलान कर दिया है। समाजवादी पार्टी ने 2019 के लोकसभा चुनावों की तैयारी करना शुरू कर दिया है।

इसके साथ ही यूपी की 80 सीटों पर सपा ने प्रत्याशी की खोज शुरू कर दी है। कन्नौज से अखिलेश खुद चुनाव लडऩे जा रहे हैं। मैनपुरी से मुलायम सिंह यादव चुनाव लडऩे की तैयारी में हैं। पार्टी के प्रमुख महासचिव रामगोपाल यादव ने लोकसभा चुनाव लडऩे की खबरें तेजी से आ रही है। सम्भल में रामगोपाल यादव ने 2019 के लोकसभा चुनाव को लेकर बड़ा ऐलान कर दिया। रामगोपाल यादव ने अपने सम्भल दौरे पर अपने सम्भल से लोकसभा चुनाव लडऩे की घोषणा की। रामगोपाल यादव ने मंच से कहा कि वैसे तो यह ऐलान करने का अधिकार सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव का है। उन्होंने कहा कि मुझे विधायकों ने यहां से लोकसभा चुनाव लडऩे का न्यौता दिया है।

मैं इनको इन्कार भी नहीं कर सकता। मैं यहां से 2019 का लोकसभा चुनाव लड़ूंगा। विधायकों के निवेदन पर मैंने यहां से 2019 में चुनाव लडऩे की सहमति जताई है। उन्होंने कहा कि सभी विधायकों ने चुनाव लडऩे का न्यौता दिया है तो मुझे सहमति जतानी पड़ी। लोकसभा चुनाव 2019 में हमारी सरकार बनेगी। उन्होंने कहा कि पहले भी सम्भल के लोगों ने मुझे बहुत प्यार दिया था। मुझे उम्मीद हैं कि आने वाले चुनाव में भी सम्भल के लोग मुझे उसी तरह प्यार देंगे।

Loading...

उन्होंने कहा कि इस बार केन्द्र में हमारी सरकार बनेगी। फूलपुर और गोरखपुर में समाजवादी पार्टी के चुनाव जीतने के बाद कर्नाटक में भी कांग्रेस की आंधी चलने लगी है। हमें इस बार राज्ससभा में दूसरे राज्यों के नेताओं ने भरोसा दिया है। रामगोपाल यादव ने इस दौरान भाजपा सरकार पर भी हमला बोला। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लोगों को रोजगार देने के वादे किए थे लेकिन देश में चार करोड़ लोग बेरोजगार हैं। 2014 से अब तक कुल 12 लाख लोगों को रोजगार मिला है। सपा के राष्ट्रीय प्रमुख महासचिव ने कहा कि इस सरकार से लोग तंग आ गए है। अब लोगों ने इसे उखाड़ फेंकने का मन बना लिया है। अब वह दिन दूर नहीं जब सपा-बसपा गठबंधन की यूपी में सरकार बनेगी।  

Loading...