एंटीबॉडीज – बांझपन का जिम्मेदार……

Loading...

वैज्ञानिकों का दावा है कि उन्होंने महिलाओं में बांझपन के लिए जिम्मेदार एंटीबॉडीज को ढूंढ़ लिया है। एक अंतरराष्ट्रीय टीम ने पता लगाया कि ग्लाइकोप्रोटीन जोना पेल्युसिडा (जैडपी-3) से संबंधित एंटीबॉडीज ने अंडाशय के भीतर कोश तंत्र को पूरी तरह जर्जर कर दिया। जिससे एक चुहिया में पूर्ण बांझपन की समस्या हो गई। ग्लाइकोप्रोटीन जोना पेल्युसिडा अंडाशय कोश का एक व्यापक अवयव है। 

 

 

जो उसके विकास तथा निषेचन की प्रक्रिया को होने देने के लिए महत्वपूर्ण है। चुहिया को आनुवंशिकी तौर पर रूपांतरित विषाणु प्रसारित करने वाला ग्लाइकोप्रोटीन जैडपी-3 दिया गया। जिससे प्रोटीन के प्रति प्रतिरक्षित प्रतिक्रिया उत्पन्न हुई और अंत में एंटीबॉडीज का निर्माण हुआ। एंटीबॉडीज की मौजूदगी से चुहिया में 14 दिन के भीतर बांझपन की प्रक्रिया शुरू हो गई और 21 दिन में वह पूर्ण बांझपन से ग्रस्त हो गई।

Loading...