कौन होगी टाइम की सर्वाधिक प्रभावशाली शख्सियत, दावेदारों में ये तीन हस्तियां शामिल

- in अन्तर्राष्ट्रीय

न्यूयॉर्क: टाइम पत्रिका की100 प्रभावशाली शख्सियतों की सूची में स्थान पाने के दावेदारों में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, माइक्रोसॉफ्ट के भारतीय मूल के सीईओ सत्या नडेला, अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप, रूस के राष्ट्रपति ब्लादिमिर पुतिन और चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग भी शामिल हैं. इस सूची में उन लोगों को स्थान दिया जाता है, जो समसामयिक विश्व पर अपना प्रभाव डाल रहे हैं. बीते एक दशक से भी अधिक समय से टाइम की प्रभावशाली शख्सियतों की सालाना सूची बनाई जाती रही है जिसमें दुनियाभरमें अपने-अपने क्षेत्रों में उल्लेखनीय काम करने वाले कलाकारों, नेताओं, वैज्ञानिकों, कार्यकर्ताओं और उद्यमियों को जगह मिलती है.

इस वर्ष की सूची की घोषणा अगले महीने की जाएगी. सूची में नाम शामिल करने के बारे में अंतिम फैसला टाइम के संपादकों का होता है. लेकिन पत्रिका ने पाठकों से इस वर्ष की सर्वाधिक प्रभावशाली शख्सियतों के बारे में ऑनलाइन वोट करने की अपील की है.

पीएम मोदी का नाम वर्ष 2016 और 2017 में भी दावेदारों की सूची में शामिल था. टाइम के संपादकों ने वर्ष 2015 में 100 सर्वाधिक प्रभावशाली व्यक्तियों में उनका नाम शामिल किया था. पत्रिका के लिए पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने मोदी पर एक लेख लिखा था.

जर्मन चांसलर एंजेला मर्केल को साल 2015 के टाइम ‘पर्सन ऑफ द ईयर’ चुना गया था. फेसस मैगजीन ‘टाइम’ ने इस खिताब के अंतिम आठ दावेदारों में इस्लामिक स्टेट के सरगना अबू बकर अल-बगदादी और अमेरिका में रिपब्लिकन पार्टी की ओर से राष्ट्रपति पद का उम्मीदवार  डोनाल्ड ट्रम्प को भी शामिल किया था.

Loading...

इस खिताब के शुरुआती 58 दावेदारों में भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, रिलायंस इंडस्ट्रीज के प्रमुख मुकेश अंबानी और गूगल के भारतीय मूल के सीईओ सुंदर पिचई के नामों को भी शामिल किया गया था. गौर हो कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 2014 में भी पर्सन ऑफ द ईयर के दावेदारों में शामिल थे.

अमेरिका में हिलेरी क्लिंटन को मात देकर राष्ट्रपति निर्वाचित होने वाले डोनाल्ड ट्रंप को टाइम पत्रिका ने ‘पर्सन ऑफ द ईयर-2016’ चुना था. पत्रिका ने कहा था कि व्यवस्था विरोधी व लोकलुभावनवादी के तौर पर प्रचार करने के बाद 70 साल के ट्रंप अमेरिका के 45वें राष्ट्रपति चुने गए और उनके निर्वाचन के साथ उस प्रचार अभियान का अंत हुआ जिसमें बार बार राजनीतिक परिपाटी भंग हुई.

टाइम पर्सन ऑफ द ईयर की दौड़ में दूसरा स्थान हिलेरी क्लिंटन को मिला था, जो राष्ट्रपति चुनाव में ट्रंप के खिलाफ डेमोक्रेट उम्मीदवार थीं. तीसरे स्थान पर ऑनलाइन हैकर्स रहे हैं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भी टाइम के संपादकों ने इस सम्मान के आखिरी दावेदारों के तौर पर 11 लोगों में चुना था.

Loading...