अब ये खिलाड़ी कभी नहीं बन पाएंगे ऑस्ट्रेलिया के कप्तान, जानिए क्यों?

- in खेल

सिडनी : गेंद से छेड़छाड़ के मामले में मुख्य साजिशकर्ता घोषित किए गए डेविड वार्नर एक साल का प्रतिबंध काटने के बाद फिर कभी राष्ट्रीय टीम की कप्तानी नहीं कर पाएंगे. क्रिकेट आस्ट्रेलिया (सीए) ने यह घोषणा की. केपटाउन में हुई इस कुख्यात घटना की सीए की जांच में पता चला है स्टीव स्मिथ और कैमरन बेनक्राफ्ट को पता था कि क्या हो रहा है, लेकिन वह वार्नर थे, जिन्होंने गेंद के हालात को कृत्रिम रूप से बदलने के प्रयास की योजना बनाई थी.

स्मिथ को एक बार फिर आस्ट्रेलिया की कप्तानी करने का मौका दिया जा सकता है, लेकिन वार्नर के नाम पर कभी विचार नहीं किया जाएगा. सीए ने बयान में कहा, ‘अंतरराष्ट्रीय और घरेलू क्रिकेट खेलने पर लगे प्रतिबंध के समाप्त होने के कम से कम 12 महीने तक स्टीम स्मिथ और कैमरन बेनक्राफ्ट के नाम पर कप्तानी के लिए विचार नहीं होगा.’

बयान के अनुसार, ‘‘भविष्य में नेतृत्व पर विचार की कोई भी संभावना शर्तिया होगी जो प्रशंसकों और जनता की स्वीकार्यता के अलावा फार्म और खिलाड़ियों के समूह के बीच स्थिति पर निर्भर करेगी. टीम की कप्तानी के लिए भविष्य में डेविड वार्नर के नाम पर विचार नहीं होगा.’ वार्नर पर जूनियर खिलाड़ी को रेगमाल का इस्तेमाल करके कृत्रिम रूप से गेंद के हालात बदलने का निर्देश देने का आरोपी बनाया गया है.

Loading...

स्मिथ को दोबारा कप्तान के रूप में नहीं देखते चैपल
आस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान इयान चैपल को नहीं लगता कि स्टीव स्मिथ को दोबारा राष्ट्रीय टीम की अगुआई का मौका मिलेगा और उन्होंने कहा कि देश के क्रिकेट बोर्ड ने उन्हें और डेविड वार्नर को 12 महीने के लिए प्रतिबंधित करके सही फैसला किया. चैपल ने ‘ईएसपीएनक्रिकइंफो’ से कहा, ‘‘मैं उन दोनों (स्मिथ और वार्नर) में से किसी को दोबारा आस्ट्रेलिया की कप्तानी करते हुए नहीं देखता. कप्तान के रूप में सबसे महत्वपूर्ण चीज में से एक यह है कि आप टीम के अपने साथियों का सम्मान हासिल करो.’

उन्होंने कहा, ‘‘केपटाउन में जिस तरीके से बेवकूफाना हरकत की गई, मुझे नहीं लगता कि उन दोनों में से कोई दोबारा टीम के साथियों का अधिक सम्मान हासिल कर पाएगा. इसलिए मुझे लगता है कि उन दोनों में से किसी के आस्ट्रेलिया के कप्तानी करने की बात को भूल जाइये.’

 
Loading...