दूल्हे को घोड़ी से उतार भाभी ने ऐसी बात कही, बंद हो गया बैंड-बाजा और पसर गया सन्नाटा

Loading...

जहानगंज के एक गांव में रविवार रात शादी समारोह में दूल्हे को घोड़ी से उतारकर उसकी भाभी ने ऐसी बात कह दी कि अचानक बैंड-बाजा बंद हो गया और सन्नाटा पसर गया। भाभी की बात सुनकर जनाती और बराती पक्ष के लोग सन्न रह गए। बराती पक्ष के लोगों ने काफी देर तक भाभी को समझाया और घंटों बाद शादी की रस्म शुरू हो सकीं। इस दौरान कन्या और वर पक्ष में अफरा तफरी का माहौल बना रहा।

जहानगंज थाना क्षेत्र के गांव पतौंजा के मजरा में रविवार रात मोहम्मदाबाद के गांव से बरात आई थी। जनवासे में जलपान के बाद घोड़ी पर चढ़कर दूल्हा और बराती कन्या के दरवाजे की ओर बढ़ रहे थे। कन्या पक्ष भी दरवाजे पर बरात का इंतजार कर रहा था। बैंड-बाजे और फिल्मी गीतों पर बराती नाच रहे थे। बरात अभी दुल्हन के घर के दरवाजे तक पहुंची थी कि अचानक आई दूल्हे की विधवा भाभी ने घोड़ी से उसे खींचकर उतार लिया। उसने शादी रोकते हुए देवर दूल्हे से खुद शादी करने की बात कह दी।

उसकी बात सुनकर बैंड बाजा बंद हो गया और सन्नाटा छा गया। बराती और जनाती सभी सकते में आ गए। परिजनों के पूछने पर भाभी ने कहा शादी तो मैं ही करुंगी, दूसरी किसी युवती से नहीं होने दूंगी। वह अपनी जिद पर अड़ी रही, काफी देर तक समझाने पर नहीं मानी तो जनातियों ने पुलिस को बुला लिया। थानाध्यक्ष अंगद सिंह मौके पर पहुंचे और पंचायत कराई। काफी देर मान मनौव्वल के बाद दूल्हे का विवाह दुल्हन से हो सका। शादी समारोह में घटनाक्रम को लेकर बरातियों और जनातियों में तरह-तरह की बातें होती रहीं।

Loading...