अभी अभी : सुषमा स्वराज जापान के तीन दिवसीय दौरे पर हुई रवाना

नई दिल्ली। विदेश मंत्री सुषमा स्वराज तीन दिवसीय दौरे पर बुधवार को  जापान रवाना हो गईं जहां वे जापानी विदेश मंत्री तारो कानो के साथ 9वीं भारत-जापान रणनीतिक वार्ता की सह-अध्यक्षता करेंगी।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने ट्वीट किया,  जापान के साथ हमारे विशेष सामरिक एवं वैश्विक गठजोड़ को मजबूत बनाने की पहल के तहत विदेश मंत्री सुषमा स्वराज जापान रवाना।

तोक्यो में नौंवीं भारत जापान विदेश मंत्री स्तरीय सामरिक वार्ता में हिस्सा लेंगी। विदेश मंत्रालय के अनुसार, 29 मार्च को रणनीतिक वार्ता के दौरान भारत और जापान द्विपक्षीय संबंधों के सभी पहलुओं की समीक्षा करेंगे और समान हित वाले क्षेत्रीय और अंतरराष्ट्रीय मुद्दों पर विचार साझा करेंगे। भारत और जापान के बीच मजबूत द्विपक्षीय संबंध रहे हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की 2014 में जापान यात्रा के दौरान द्विपक्षीय संबंध विशेष रणनीतिक और वैश्विक साझेदारी में तब्दील हो गए थे, जिसके बाद भारत और जापान के संबंध काफी प्रगाढ़ हुए हैं। सालाना द्विपक्षीय शिखर सम्मेलन के लिए गत वर्ष सितंबर में जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे की इंडिया यात्रा ने संबंधों को नई ऊर्जा प्रदान की थी।

Loading...

इस यात्रा के दौरान अहमदाबाद-मुंबई बुलेट ट्रेन परियोजना की आधारशिला रखी गई थी, जिसका निर्माण जापान की सहायता से किया जाना है। विदेश मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि ‘वर्तमान में जापान इंडिया में सबसे बड़े निवेशकों में से एक है। देश की अवसंरचना परियोजनाओं, विनिर्माण, वित्तीय बाजारों और क्षमता निर्माण के साथ अन्य क्षेत्रों में जापान का सहयोग बढ़ा है।

अंतरराष्ट्रीय सहित कई मुद्दों पर चीन को रोकने के लिए जापान का साथ भारत के लिए काफी अहम है। दक्षिण चीन सागर और हिन्द महासागर में चीन द्वारा लगातार प्रभाव बढ़ाए जाने के प्रयासों के लिहाज से भारत और जापान का सहयोग बेहद महत्वपूर्ण है। 

Loading...