सुल्तान हज सर्विसेज ने दो दर्जन ज़ायरीन को उमरा के लिए रवाना किया

Loading...

लखनऊ: गुरुवार को लगभग 22 की संख्या में मुस्लिम बंधु उमरा करने के लिए रवाना हुए। इस मौके पर जायरीनों के रिश्तेदारो समेत नगर के सैकड़ों लोगो ने जायरीनों से मिलकर माफी तलाफी की और अपने औऱ मुल्क़ हिंदुस्तान में अमन चैन के लिए दुआ की दरखास्त की। उमरा पर जाने वाले लोगों के लिए दुआएं खैर भी की और अल्लाह से यह दुआ किया कि उमरा के सारे अरकान आसानी से अदा करने की तौफीक दे। इस अवसर पर ‘सुल्तान हज एंड उमरा सर्विसेज’ के एमडी सैय्यद कुद्दुस हाशमी, एम वाई फरीदी, रेहान अहमद, ख़ालिद समेत सैकड़ों की संख्या में लोगों ने जायरीनों को लखनऊ एयरपोर्ट से विदा किया।

लखनऊ एयरपोर्ट से शाम सऊदी एयरलाइंस की फ्लाइट से जायरीनों को विदा करने के लिए भारी संख्या में लोग ने फूलमाला पहना कर स्वागत करते हुए लोगों ने काबा शरीफ में दुआ की दरख्वास्त की। हज वर्ष में केवल एक बार होता है, जबकि उमरा साल में कभी भी किया जा सकता है। इन दिनो भारी संख्या में लोग उमरा पर जा रहे हैं।

‘सुल्तान हज एंड उमरा सर्विसेज’ के माध्यम से लगभग दो दर्जन लोगों का जत्था उमरा के लिए रवाना हुआ है। जायरीनों से मिलने पहुंचे लोगों ने काबा में अल्लाह से दुआ करने का आग्रह किया वही लोगों ने नारा-ए तक्बीर के गगनचुंबी नारे लगाए। उम्र करने वालों में मोहम्मद ज़ुहेब, श्रीमती ज़ुबैदा ख़ातून, श्रीमती शाहिदा ख़ातून, एज़ाज़ फ़ातिमा, मुस्तफ़ा खान, फ़तिमा ख़ातून, मेराज अली, शकीरा बाबू, मोहर्रम अली, श्रीमती तहरुंन्निशा, मोहम्मद फ़हीम अख्तर समेत दो दर्जन से अधिक लोग लखनऊ से उमरा करने के लिए रवाना हुए!

Loading...