यूपी में राज्यसभा चुनाव बनी नाक की लड़ाई, कौन किसके साथ? समझें सीटों का समीकरण

- in उत्तरप्रदेश

यूपी की 10 सीटों के लिए हो रहे राज्यसभा चुनावों में 11 उम्मीदवार मैदान में हैं. 24 घंटे से भी कम समय मतदान के लिए बचा है. सूबे के मौजूदा विधायकों की संख्या के लिहाज से बीजेपी के 8 और सपा के एक सदस्य की जीत तय है. बीजेपी के 9वें उम्मीदवार के उतरने से मुकाबला दिलचस्प हो गया है.

सूबे की दसवीं राज्यसभा सीट के लिए बीजेपी के अनिल अग्रवाल और बीएसपी के भीमराव अंबेडकर के बीच मुकाबला है. इस सीट को जीतने के लिए बीजेपी और विपक्ष ने अपनी-अपनी नाक की लड़ाई बना ली है. दोनों एक दूसरे के वोटों में सेंधमारी करने की जद्दोजहद में जुटे हैं. बीजेपी हर हाल में 9वें सीट पर जीत की रणनीति बनाने में जुटी है. दूसरी ओर अखिलेश ने भी बीजेपी की इस हसरत पर पानी फेरने में पूरी ताकत झोंक दी है.

किसे कितने वोटों की जरूरत

दरअसल सूबे की सभी पार्टियां अपना-अपना किला बचाने के लिए डिनर डिप्लोमेसी में जुटी हैं. एक राज्यसभा सीट को जीतने के लिए 37 वोटों की जरूरत है. बीजेपी अपने सहयोगियों के साथ 8 राज्यसभा सीटों पर आसानी से जीत जाएगी. इसके बाद 28 वोट अतरिक्त बचते हैं. ऐसे में 9वीं सीट जीतने के लिए उसे 9 और वोटों की जरूरत पड़ेगी. वहीं सपा की एक सीट जीतने के बाद 10 अतरिक्त वोट बचते हैं जिसे बसपा उम्मीदवार को देने का ऐलान किया है. विपक्ष के लिए दसवीं सीट जीतने के लिए निर्दलीय विधायकों के सहयोग के साथ-साथ अपना कुनबा बचाए रखने की चुनौती है.

Loading...

डिनर डिप्लोमेसी

राज्यसभा चुनाव के मद्देनजर सत्तापक्ष और विपक्ष दोनों ओर से दावतों का सियासी दांव भी चला जा रहा है. बुधवार शाम को सीएम योगी आदित्यनाथ और एसपी अध्यक्ष अखिलेश यादव ने अलग-अलग डिनर का आयोजन किया. राज्य में सत्तारूढ़ बीजेपी और प्रमुख विपक्षी दल एसपी असंतुष्ट विधायकों को अपने खेमे में खींचने की कोशिशें कर रहे हैं.

योगी की दावत, 9वें प्रत्याशी के लिए 9 वोट की जरूरत

सीएम योगी आदित्यनाथ की डिनर पार्टी में सपा से बगावत कर बीजेपी का दामन थामने वाले नरेश अग्रवाल के बेटे नितिन अग्रवाल और निर्दलीय विधायक अमन मणि त्रिपाठी शामिल हुए. बीजेपी से नाराज चल रहे ओमप्रकाश राजभर को मना लिया गया है. सीएम योगी के डिनर में ओमप्रकाश राजभर मंच पर मौजूद रहे. हालांकि निषाद पार्टी के एकलौते विधायक विजय मिश्रा ने बीजेपी को वोट देने का ऐलान किया है, लेकिन आज की बैठक में दिखे नहीं. इस तरह बीजेपी तिनका, तिनका जोड़कर अपने 9वें उम्मीदवार अनिल अग्रवाल को जिताने के लिए 9 वोटों की जद्दोजहद में जुटी है.

Loading...