चाहती हैं नार्मल आपकी डिलीवरी तो प्रेगनेंसी के दौरान करें ये काम

Loading...

गर्भावस्था एक ऐसी अवस्था है जिसका इंतजार हर शादीशुदा महिला को होता हैं. इस दौरान उन्हें कई बातों का ध्यान देना पड़ता है ताकि कोई नुकसान नहीं होगा. ऐसे समय में हर गर्भवती महिला की यही चाहत होती है कि उसकी डिलीवरी सिजेरियन ना होकर नार्मल हो. तो अगर आप भी चाहते हैं आपकी डिलीवरी नार्मल हो तो इन टिप्स का ध्यान रखें. सिजेरियन में डिलीवरी के बाद महिला को कई परेशानियों का सामना करना पड़ता हैं. कुछ ऐसे टिप्स जिनसे आपकी कॉम्पीलिकेशन दूर हो जाए और आपकी नॉर्मल डिलीवरी की संभावना बढ़ जाए.

* डेली वॉक करें 
अक्सर महिलाएं अपनी गर्भावस्था के दौरान आलसी हो जाती है. वह एक जगह बैठी रहती है या फिर अपना अधिकतर समय सोने में बिताती हैं. आपको बता दें कि आपकी यह आदत बिल्कुल भी सही नही है. बल्कि गर्भवती महिलाओं जितना ज्यादा हो चलना फिरना चाहिए. उन्हें रोजाना पार्क में जाकर वॉक करनी चाहिए. इससे उन्हें काफी फायदा मिलेगा.

* तनाव को रखें दूर 
अक्सर देखने में आता है कि गर्भावस्था के दौरान तनाव की स्थिति डिलीवरी में कॉम्पीलिकेशन पैदा करती है. डाक्टरों का मानना है कि अगर आप गर्भावस्था के आखिरी महिनों में तनाव ग्रस्त रहती हैं तो इससे न सिर्फ आपकी नार्मल डिलीवरी की संभावना कम होती है बल्कि इससे बच्चे की सेहत पर भी बुरा प्रभाव पड़ता है. इसलिए अगल आपको किसी भी तरह का तनाव हो तो अपने गायिनाकोलोजिस्ट से परामर्श करें.

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि दुबले शरीर वाली महिलाओं को नार्मल डिलीवरी में ज्यादा दिक्कत नही आती. इसके अलावा उनकी डिलीवरी के दौरान ज्यादा कॉम्पीलिकेशन भी नही आती जिसके चलते वह सीजेरियन से बच जाती है. इनकी तुलना में अधिक वजन वाली महिलाओं के लिए यह कार्य काफी कठिन बन जाता है. इसलिए जरुरी है कि गर्भावस्था के दौरान आप अपने वजन का खास ख्याल रखें.

Loading...