उन्नाव युवती पर सिरफिरे ने किये चाकू से 16 वार, इलाज के दौरान मौत

- in उत्तरप्रदेश, प्रदेश

एक तरफ नवरात्र में जहां लोग मां भगवती की पूजा अर्चना करके अपने मन की मुराद पूरी होने के लिए दुआ मंगाते हैं। नवरात्रि समाप्त होने के बाद लड़कियों की पूजा करके कन्याभोज करवाते हैं। लड़कियों को मां भगवती का ही रूप माना जाता है लेकिन, यूपी के उन्नाव जिला में नवरात्रि के पहले दिन मंदिर से दर्शन कर घर लौट रही युवती पर मोहल्ले के ही युवक ने चाकू से हमला बोल दिया था। गर्दन और शरीर के कई हिस्सों में चाकू लगने से युवती लहूलुहान होकर गिर गई थी।
युवती के साथ रहीं मोहल्ले की दो लड़कियां दहशत में मौके से भाग निकलीं। सूचना पर पहुंचे परिजनों ने पुलिस की मदद से पीड़िता को सीएचसी पहुंचाया, जहां से उसे गंभीर हालत में ट्र्रामा सेंटर लखनऊ रेफर कर दिया गया। ट्रॉमा में सोमवार को युवती की इलाज के दौरान मौत हो गई। बांगरमऊ इंस्पेक्टर अरुण कुमार द्विवेदी ने बताया कि युवती की मां की तहरीर पर पुलिस ने उसके मोहल्ले के दो लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर गिरफ्तारी के प्रयास शुरू किए हैं।
फतेहपुर खालसा गांव की है घटना

बता दें कि घटना बांगरमऊ कोतवाली क्षेत्र के फतेहपुर खालसा गांव की है। यहां रहने वाले रामबली रैदास की 18 वर्षीय पुत्री रजनी रविवार सुबह साढ़े आठ बजे करीब गांव के ही मंदिर में पूजा करने निकली। उसके साथ परिवार की दो लड़कियां रिंकी (15) और मीनू (10) भी थी। करीब आधा घंटा बाद युवती मंदिर से पूजा कर घर को निकली। करीब 20 मीटर दूरी पर पहले से छिपकर बैठे मोहल्ले के अजरुन पुत्र रामशंकर ने उस पर चाकू से हमला कर दिया।
शरीर के कई हिस्सों पर चाकू के 16 वार

Loading...

गर्दन समेत शरीर के कई हिस्सों पर उसने चाकू से 16 वार किए। जिससे युवती लहूलुहान को मौके पर ही बेहोश हो गई। परिजनों ने पुलिस की मदद से घायल रजनी को सीएचसी में भर्ती कराया। कोतवाल बांगरमऊ अरुण कुमार द्विवेदी को घायल युवती ने बताया कि मोहल्ले के अजरुन ने उस पर चाकू से हमला किया, जबकि अजयपाल पुत्र सोबरन दूर खड़ा रहा। उधर डॉक्टर ने रजनी की हालत गंभीर देख ट्रामा सेंटर रेफर कर दिया गया, यहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। पीड़िता की मां नन्हक्की ने आरोपी अजरुन और अजयपाल के विरुद्ध जानलेवा हमले का मुकदमा दर्ज कराया है

Loading...