क्रिकेटर शमी भी हुए आक्रामक, हसीन जहां के ‘यार्कर’ के जवाब में ‘बाउंसर’

अमरोहा। विश्व के क्रिकेट जगत में इन दिनों बिना गेंद फेंके सनसनी बने मुहम्मद शमी भी अब आक्रामक हो रहे हैं। पत्नी हसीन जहां के ‘यार्कर’ के जवाब में अब वह ‘बाउंसर’ फेंकने लगे हैं। तेज गेंदबाज मुहम्मद शमी का रुख भी आक्रामक हो गया है। उन्होंने पत्नी हसीन जहां की ओर से लगाए गए आरोपों का जवाब देने के लिए कानूनी लड़ाई लडऩे का फैसला किया है। पत्नी की ओर से लगाए गए दहेज उत्पीडऩ के आरोप का जवाब देते हुए कहा कि हसीन ने सालभर में मेरे क्रेडिट कार्ड से डेढ़ करोड़ रुपये की शापिंग की है। ऐसे में वह दहेज पीडि़ता कैसे हो गईं। हसीन जहां झूठी हैं और आरोप लगाना उनकी आदत है। तीन वर्ष में वह अब तक तीन हजार लोगों पर आरोप लगा चुकी हैं। घर में काम करने वाले नौकर पर भी आरोप लगा दिया था।

पत्नी हसीन के संगीन आरोपों से घिरे शमी दस दिन बाद प्रकरण को लेकर आक्रामक दिखे। उन्होंने फोन पर दैनिक जागरण के साथ कई बातें साझा कीं। शमी ने कहा कि पत्नी के कहने पर कोलकाता में उनके नाम मकान लेकर दिया, दो कार उनके पास हैं। हसीन सारी शापिंग आज भी मेरे ही क्रेडिट कार्ड से करती हैं।

उन्होंने बताया कि जब वह दक्षिण अफ्रीका दौरे पर टीम के साथ गए थे तो हसीन ने डायमंड रिंग लाने के लिए कहा था। इसके लिए वह 250 किमी. दूर गए थे। उसके बाद लौटते समय दुबई से ज्वेलरी लाने की जिद की। इतना ही नहीं न लाने पर हसीन ने घर में झमेला करने की चेतावनी दी थी। मेरे मोबाइल की वाट्सएप चैटिंग इसका सुबूत है। शमी ने कहा कि हसीन जहां बेहद लालची और शक्की महिला हैं। अपने परिवार और रिश्तेदारों से बात करो तो भी शक करती थीं।

जिसने दुष्कर्म किया उसके घर दूसरे दिन ही वह कैसे चली गईं: शमी

अपने भाई हसीब अहमद पर लगाए गए दुष्कर्म के आरोप पर सफाई देते हुए कहा कि हसीन जहां ने सात दिसंबर को दुष्कर्म करने का आरोप लगाया है। दो दिसंबर से दिल्ली में श्रीलंका के साथ टेस्ट मैच था। प्रदूषण के कारण यह टेस्ट मैच बीच में ही रोक दिया गया था। छह दिसंबर को दिल्ली के ताज होटल में भुवनेश्वर कुमार का रिसेप्शन था। जिसमें हसीन जहां और बेटी आयरा मेरे साथ थीं। सात दिसंबर को सुबह 10 बजे उन्होंने होटल से चेकआउट किया और शाम चार बजे गांव पहुंचे। जहां हसीन को छोड़कर भाई हसीब के साथ फार्म हाउस चले गए। इस दौरान भी हसीन उनके साथ वाट्सएप पर बात करती रहीं।

जिसने दुष्कर्म किया उसके घर दूसरे दिन ही वह कैसे चली गईं: शमी

अपने भाई हसीब अहमद पर लगाए गए दुष्कर्म के आरोप पर सफाई देते हुए कहा कि हसीन जहां ने सात दिसंबर को दुष्कर्म करने का आरोप लगाया है। दो दिसंबर से दिल्ली में श्रीलंका के साथ टेस्ट मैच था। प्रदूषण के कारण यह टेस्ट मैच बीच में ही रोक दिया गया था। छह दिसंबर को दिल्ली के ताज होटल में भुवनेश्वर कुमार का रिसेप्शन था। जिसमें हसीन जहां और बेटी आयरा मेरे साथ थीं। सात दिसंबर को सुबह 10 बजे उन्होंने होटल से चेकआउट किया और शाम चार बजे गांव पहुंचे। जहां हसीन को छोड़कर भाई हसीब के साथ फार्म हाउस चले गए। इस दौरान भी हसीन उनके साथ वाट्सएप पर बात करती रहीं।

शाम को भाई हसीब उन्हें घर छोड़कर मुरादाबाद में अपने आवास पर चले गए। शमी ने बताया कि आठ दिसंबर को वह हसीन के साथ हसीब के घर भी गए थे। उस समय भी कोई बात नहीं थी। अगर सात दिसंबर को हसीब ने हसीन जहां के साथ कोई गलत हरकत की थी तो उन्होंने किसी को बताया क्यों नहीं। इतना ही नहीं फिर हसीन ही नहीं कोई भी महिला उस इंसान के घर क्यों जाएगी, जिसने उसके साथ गलत हरकत की है। मुहम्मद शमी ने कहा कि हसीन ने सुलह के सारे रास्ते बंद कर दिए हैं। अब वह कानूनी लड़ाई लड़ेंगे तथा खुद व परिवार को बेकसूर साबित करेंगे।

दुबई होकर ही जाती है टीम इंडिया की फ्लाइट

पाकिस्तानी युवती से अनैतिक संबंध और उसके साथ एक रात बिताने के लिए ही दुबई में रुकने के आरोपों पर क्रिकेटर मुहम्मद शमी ने कहा कि टीम इंडिया किसी भी देश के दौरे पर जाती है, तो बीसीसीआइ के कांट्रैक्ट के मुताबिक फ्लाइट वाया दुबई ही जाती है। मैच फिक्सिंग पर कहा कि अगर दोषी पाया गया तो फांसी पर लटका देना। उन्होंने कहा कि बेटी आयरा उनकी जिंदगी है। इसके बावजूद न्यूजीलैंड के दौरे पर रहने के दौरान बीमार पड़ी बेटी को देखने तक नहीं गए और देश के लिए खेलते रहे।

शमी ने फोन पर बताया कि कहा कि युवती से संबंध और मैच फिक्सिंग के आरोप लगाना हसीन की सबसे बड़ी भूल है। वह किसी और के हाथ का खिलौना बन चुकी हैं। हसीन मुझे और मेरे परिवार को जितना बदनाम करना चाहती थीं कर चुकी हैं। जिस मोड़ पर हसीन ने मुझे व मेरे परिवार को लाकर खड़ा कर दिया है वहां से लौटना मुश्किल है। उन्होंने कहा कि उनके साथ कोई भी फोटो खिंचवा सकता है। पाकिस्तानी युवती ने फोटो खिंचवाया मुझ से बात की तो हसीन जहां को शक हो गया।

जहां तक पाकिस्तानी युवती से पैसे लेने या मैच फिक्सिंग का सवाल है तो वह बीसीसीआइ व एंटी करप्शन की टीम के साथ जांच के लिए हर तरह से तैयार हैं। शमी ने बीसीसीआइ की एंटी करप्शन टीम व स्थानीय पुलिस से अपील की है कि सारे मामले की निष्पक्ष जांच की जानी चाहिए। उनके साथ परिवार के सात और लोगों की जिंदगी का सवाल है। बोले, अगर कोई गुनाह मैंने नहीं किया तो मुझे उसकी सजा नहीं मिल सकती।

हसीन ने पहले पति की दोनों बेटियों को बताया था बड़ी बहन की बेटियां

मुहम्मद शमी पर संगीन आरोप लगाने वाली उनकी पत्नी हसीन जहां पहले से शादीशुदा थीं, अब सभी लोग जान गए हैं। इसमें शमी ने अब नया खुलासा किया है। कहा है कि हसीन ने उनसे पहली शादी की बात छुपाई थी। अपनी दोनों बेटियों को हसीन ने भांजी बताया था। हसीन ने कहा था कि वह दोनों उसकी बड़ी बहन की बेटी हैं। शमी ने बताया कि शादी के बाद जब पत्नी हसीन के इस फरेब के बारे में पता चला तो उन्होंने इसे नजरअंदाज करते हुए दोनों बेटियों को अपना लिया था। उन्हें अपनी बेटी आएरा की तरह ही प्यार देने लगे थे। इसकी पुष्टि हसीन की दोनों बेटियां भी कर चुकी हैं। शमी का कहना है कि उनकी पत्नी हसीन जहां ने उन्हें धोखे में रखकर शादी की थी।

उन्होंने बताया कि वर्ष 2012 में वह हसीन से आईपीएल मैच के दौरान कोलकाता में मिले थे। दोनों के बीच बातचीत शुरू हुई। 2014 में शादी भी कर ली। उस समय तक हसीन ने अपनी पिछली जिंदगी के बारे में कुछ नहीं बताया था। शमी ने बताया कि उनके अफेयर के दौरान हसीन दोनों बच्चियों से फोन पर बात करती थीं। बच्चियां उनके पास भी मिलने आती थीं। उनके नाम आफरीन जहां और अरशी जहां हैं। दोनों को हसीन ने अपनी भांजी बताया था। हसीन जहां का पति परचून का दुकान वाला था। उसको भी हसीन जहां ने धोखा दिया।

प्रशंसक भी बोले-अब हसीन जहां से कानूनी लड़ाई जरूरी

पति पर आरोप लगाने वाली हसीन जहां को मुहम्मद शमी के गांव के लोग व उनके प्रशंसक मौकापरस्त बता रहे हैं। अब वह पूरी तरह से शमी के साथ खड़े हैं। उनका कहना है कि शमी ने हसीन जहां को पूरा मौका दिया है। लगता है हसीन जहां ही परिवार को बचाना नहीं चाहतीं। अब शमी को कानूनी लड़ाई लडऩी चाहिए। यह उनका सही फैसला है। क्रिकेटर शमी के कल अपना पक्ष रखने तथा पत्नी हसीन जहां के आरोपों को खारिज करते हुए कानूनी लड़ाई शुरू करने की बात कही गई है।

दस दिन बाद शमी के फैसले को गांव के लोग व उनके प्रशंसकों ने हाथों-हाथ लिया है। उनका कहना है कि हसीन जहां ने अब हद कर दी है। शमी ने सुलह करने के लिए कोई कोशिश नहीं छोड़ी। लगता है हसीन जहां ही अपना घर नहीं बचाना चाहतीं। गुरुवार को भी शमी के गांव सहसपुर अलीनगर का माहौल सामान्य रहा। हां, इस फैसले को लेकर गांव के लोग जरूर चर्चा करते रहे। वहीं घर पर परिजन शांत हैं तथा उनकी मां अंजुम आरा के पास रिश्तेदार महिलाएं मौजूद रहीं। इस बारे में शमी की मां ने कहा कि हमने मामला खत्म करने की हर कोशिश की है। आज भी यही सोच रहे हैं कि यह परिवार बिखरने से बच जाए। लेकिन हसीन जहां के हर कदम न हमें दुख दिया है।

उन्होंने कहा कि उसे बेटी की तरह प्यार दिया, लेकिन हमे उसका ये सिला मिलेगा इसकी उम्मीद नहीं थी। वहीं गांव के अब्दुल सत्तार कहते हैं कि शमी को यह फैसला पहले ले लेना चाहिए था। उसने हसीन जहां को बहुत मौका दिया है। अब हम शमी के साथ हैं। गांव के ही अंसार कहते हैं कि सारा गांव शमी के साथ है। हसीन जहां मौकापरस्त महिला है। उसने अपने पति को बेइज्जत करने में कोई कमी नहीं छोड़ी है। हसीन को यह सबकुछ नहीं करना चाहिए था।

मोहम्मद राजा कहते हैं कि हसीन जहां ने शमी की दौलत से प्यार किया था। उसके नाम व पैसे से प्यार था। अब शमी को उनके खिलाफ भी कानूनी कार्रवाई करनी चाहिए। वहीं प्रशंसक लोकेश सैनी कहते हैं कि हम सब मोहम्मद शमी के साथ हैं। हसीन जहां को अदालत में घसीटना चाहिए। ताकि हकीकत सामने आ सके। दोस्त रिजवान पाशा कहते हैं कि जब शमी परिवार बचाने के लिए सारे देश के सामने माफी मांग सकता है तो हसीन जहां को मान जाना चाहिए था। लेकिन अब सारे रास्ते बंद होने के बाद शमी का यह फैसला सही है। वह निर्दोष है तथा इंसाफ मिलेगा। 

Loading...
E-Paper