नरेश के कदम रखते ही यूपी में भाजपा की उल्टी गिनती शुरू

गोरखपुर संसदीय क्षेत्र भाजपा का अभेद्य किला है। सपा बसपा गठबंधन और जनता की नाराजगी के चलते भाजपा का मजबूत किला ध्वस्त हो गया। कई दशकों से इस सीट पर गोरखनाथ मठ/भाजपा का कब्जा था। जो इस बार सपा बसपा ने मिलकर ढहा दिया। गोरखपुर की सीट मुख्यमंत्री योगी की प्रतिष्ठा से जुड़ी हुई थी। लेकिन योगी का कोई जादू नहीं चला।

भाजपा सरकार और प्रशासन की तानाशाही से टूट गई जनता ने मोदी और शाह को आईना दिखाया कि जनाब ये गुजरात नहीं यूपी है। यहां जो हो गया अब दुबारा नहीं होने बाला। हरदोई के कद्दावर नेता नरेश अग्रवाल के आते ही भाजपा की छीछालेदर होनी शुरू हो गयी। हरदोई सदर के उपचुनाव में अगर ये गठबंधन कायम रहा। तो नरेश को सीट बचाये रखने के लिए लोहे के चने चबाने पडेगे। अखिलेश माया का गठबंधन बना रहा। तो सदर सीट पर बडा चुनावी संग्राम होगा।

Loading...
Loading...