सांसद भगवंत मान की पहल से इन परिवारों में लौटी खुशी, अर्मीनिया में फंसे चार युवक पंजाब लौटे

धोखेबाज एजेंट का शिकार होकर अर्मीनिया में फंसे चार पंजाबी युवक शनिवार को आप सांसद भगवंत मान के प्रयास से सकुशल पंजाब लौट आए। रोजगार की तलाश में विदेश गए इन चार युवकों ने पंजाब पहुंचने के बाद अपनी व्यथा सुनाई। उन्होंने बताया कि धोखेबाज एजेंट के झांसे में वे अर्मीनिया पहुंचकर फंस गए, जहां से उन्होंने सोशल मीडिया के जरिए भगवंत मान से अपील की।

आम आदमी पार्टी पंजाब के प्रधान भगवंत मान ने तुरंत प्रयास शुरू किए और चारों युवकों को 3-4 दिन में ही वापस लाने में सफल हो गए। दिल्ली एयरपोर्ट पर उक्त युवकों को लेने पहुंचे उनके परिजनों ने मान का आभार जताया। आप मुख्यालय से जारी बयान में मान ने कहा कि पंजाब में सक्रिय फर्जी ट्रेवल एजेंट ने उक्त चारों युवकों को अपने जाल में फंसाया और विदेश में मोटा वेतन और वर्क परमिट दिलाने का भरोसा दिलाया।

झांसे में आए चारों युवकों को फर्जी ट्रैवल एजेंट ने अर्मीनिया पहुंचा दिया लेकिन वहां पहुंचते ही एजेंट अपने वादे से मुकर गया और युवकों को न तो काम दिलाया और न ही उनके लिए कोई व्यवस्था की। विरोध करने पर एजेंट इन युवकों से मारपीट करने लगे। बचाव का कोई रास्ता न निकलता देख इन युवकों ने सोशल मीडिया पर भगवंत मान से मदद की अपील की।

इस पर मान ने तुरंत विदेश मंत्रालय से संपर्क करके चारों युवकों को भारत लाने के प्रयास शुरू कर दिए। मान ने कहा कि ऐसी घटनाओं के पीछे सरकार की जनविरोधी नीतियां हैं, जिनके कारण बेरोजगार युवक रोजगार तलाशने के लिए विदेशों में जा रहे हैं। उन्होंने चारों युवकों के सकुशल लौटने पर विदेश मंत्री सुषमा स्वराज का भी आभार जताया, जिनके दबाव में फर्जी ट्रेवल एजेंट पर केस दर्ज किया गया है।

Loading...
E-Paper