UP सरकार ने शराब के ऊपर एक अतिरिक्त टैक्स व्यवस्था लागू की…

गोवंश के रखरखाव को लेकर उत्तर प्रदेश सरकार ने शराब के ऊपर एक अतिरिक्त टैक्स व्यवस्था लागू की है इसको सेस नाम दिया गया है । इस टैक्स के जरिए जो आमदनी होगी उससे सरकार गोवंश के रखरखाव की व्यवस्था करेगी। सरकार की इस टैक्स को लेकर जानकारी देते हुए आबकारी अधिकारी धीरज शर्मा ने बताया के प्रदेश में शराब के ऊपर एक अतिरिक्त मद यानी सेस लागू किया हुआ है। इससे होने वाली आमदनी से गोवंश के रखरखाव की व्यवस्था की जाएगी। इस अतिरिक्त व्यवस्था के तहत बॉटलिंग फीस को बढ़ा दिया गया है। इसके साथ साथ बाहर से आने वाली शराब पर भी अतिरिकत टैक्स लगा दिया गया है।

जनपद में करीब 5 लाख 50 हजार बोतल वाइन की बिक्री होती है और इतनी ही बोतल बीयर की होती है। उत्तर प्रदेश में इस योजना से करीब 590 करोड रुपए की आमदनी का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। इस आमदनी को गौशाला निर्माण एवं गायों के रखरखाव के लिए खर्च किया जाएगा । वही उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा शराब पर सैस लगाने का जो काम किया गया है उसकी तारीफ करते हुये गौशाला संचालिका कृष्ण गुप्ता ने कहा कि सरकार द्वारा वाकई काबिलेतारीफ काम किया है,इससे जो आवारा गोबंश सड़को पर घूमते है उन्हें रहने के लिए आसरा मिलेगा,और जो लेग गौशाला संचालिका करते है उन्हें सैस के पैसे से सहुलियत मिलेगी,

Loading...
E-Paper