शमी की पत्नी ने कहा- मैंने कारण जानने की कोशिश की थी

- in खेल, बड़ी खबर

कोलकाताः भारतीय क्रिकेट टीम के तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी की पत्नी हसीन जहां ने कहा है कि घरेलू हिंसा का मामला दायर करने और उसके खिलाफ बेवफाई का आरोप लगाने से पहले उन्होंने अपने पति से कारण जानने की कोशिश की थी. घरेलू हिंसा और क्रिकेटर पर बेवफाई की एक शिकायत के बाद गैर जमानती और जमानती धाराओं के तहत कोलकाता पुलिस ने शुक्रवार को मामला दर्ज किया था.

रविवार को दिन में टीवी चैनलों पर अपने बच्चे और परिवार की खातिर सुलह की शमी की अपील के बाद हसीन जहां का यह बयान सामने आया है. हसीन ने रविवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि शमी होली पर डर की वजह से अच्छा व्यवहार करने लगे. हसीन का कहना है कि उन्होंने शमी को अपनी गलती को स्वीकार करने के लिए कहा, लेकिन शमी ने ऐसा नहीं कहा. हसीन का कहना है कि शमी खुद को बचाने के लिए समझौता करने चाहते हैं. लेकिन वो इस बारे में नहीं सोच रही हैं.

शमी डर की वजह से अच्छा बर्ताव कर रहे हैं

हसीन ने मीडिया से बात करते हुए कहा, मैंने शमी को गलती स्वीकार करने के लिए कहा. मैं पिछले काफी समय से इसी कोशिश में लगी हूं. लेकिन वो यूपी चले गए थे. अगर मुझे उनका फोन नहीं मिला होता तो वो मुझे तलाक दे देते. हसीन ने कहा है कि शमी डर की वजह से अच्छा बर्ताव कर रहे हैं.

उन्होंने कहा, वह आरोपों से खुद को बचाने के लिए सभी हर तरह की कोशिश कर रहे हैं. मैंने मीडिया को पूरी जानकारी दे दी है फिर जांच क्यों नहीं कर रही है. सोशल मीडिया पर अपनी बात रखने से पहले मैंने अपनी शादी को बचाने के लिए उसे मनाने का प्रयास किया. अगर वह वापस आने की कोशिश करता है तो मैं अभी भी विचार कर सकती हूं.

Loading...

बता दें कि इस शमी ने कहा है कि मुझे लगाए गए आरोप बढ़ते जा रहा हैं. लेकिन मैं चाहता हूं कि इसकी जांच हो. मैं इस मसले पर सफाई नहीं देना चाहता हूं. शमी ने बीसीसीआई का जिक्र करते हुए कहा, मुझे बीसीसीआई पर यकीन है, वो जांच के बाद ही कोई निर्णय लेंगे. मैं इसे लेकर चिंतित नहीं हूं.

इससे पहले पुलिस ने शुक्रवार को कहा कि शमी (27) की पत्नी हसीन जहां ने उनके खिलाफ शारीरिक एवं मानसिक रूप से प्रताड़ित करने और विवाहेतर संबंध रखने की शिकायत दर्ज कराई है. जाधवपुर पुलिस स्टेशन में दर्ज एफआईआर के अनुसार, शमी और चार अन्य के खिलाफ हत्या के प्रयास, दुष्कर्म, आपराधिक धमकी एवं जहर के जरिए चोट पहुंचाने के प्रयास सहित भारतीय दंड संहिता की विभिन्न धाराओं में मामले दर्ज किए गए हैं.

Loading...
E-Paper