सरकारी जमीन पर पचासो साल से मकान बनाकर रह रहे अनुसूचित जनजाति के दो हजार लोग हुए बेघर

स्लग– सरकारी जमीन पर पचासो साल से मकान बनाकर रह रहे अनुसूचित जनजाति के दो हजार लोग हुए बेघर, अतिक्रमण के नाम पर गरजा बुलडोजर सैकड़ो पक्के कच्चे मकान जमींदोज

—  कभी प्रशासन ने ही चमकाए थे आशियाने

— पीड़ित हज़ारो लोगो ने पहले किया हाइवे जाम , फिर किया कलेक्ट्रेट का घिराव 

Loading...


Anchor– सरकारी जमीनों पर अवैध कब्जों को लेकर  मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी के निर्देश के बाद चलाए जा रहे अतिक्रमण अभियान के तहत उत्तर प्रदेश के हरदोई जिले में प्रशासन ने बड़ी कार्रवाई की है। 50 साल से सरकारी भूमि पर कब्जा जमाए बैठे करीब 2000  अनुसूचित जनजाति के परिवार प्रशासन की इस कार्यवाही से बेघर हो गए हैं।

प्रशासन ने पूरे गांव में बने सैकड़ो पक्के और कच्चे मकानों को बुलडोजर के जरिए जमींदोज करा दिया है। प्रशासन की इस बड़ी कार्रवाई के बाद करीब 2000 लोग बेघर हो गए हैं और अब उनके पास सर छुपाने तक के लिए आशियाना तक नहीं बचा है। जबकि इस गांव में रहने वाले सभी अनुसूचित जनजाति के परिवारों के लिए सरकारी कॉलोनी,बिजली कनेक्शन से लेकर खड़ंजा तक प्रशासन ने डलवाया था, कार्रवाई के बाद हज़ारो लोगों ने हरदोई सीतापुर हाइवे जाम कर दिया किसी तरह वहां से हटने के बाद अब कलेक्ट्रेट का घिराव किया है| 

Loading...