आजीवन चीन के राष्ट्रपति बने रहेंगे जिनपिंग

चीन की संसद ने राष्ट्रपति पद की समय सीमा को हमेशा के लिए समाप्त कर दिया है. इस बाद की जानकारी एक चीनी मीडिया के हवाले से सामने आई है. गौरतलब है कि चीन ने राष्ट्रपति शी जिनपिंग के लिए दो कार्यकाल की समय सीमा को समाप्त करने के फैसले का बचाव किया था. वहीं अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने भी शी जिनपिंग के आजीवन राष्ट्रपति रहने के प्रस्ताव पर अपनी सहमति जाहिर की थी.

बता दें कि चीन की कम्युनिस्ट पार्टी की केंद्रीय समिति ने संविधान में संशोधन करके राष्ट्रपति और उपराष्ट्रपति के दो कार्यकाल की समय सीमा को समाप्त करने का प्रस्ताव पेश किया था. इसमें हाल ही में अपना दूसरा कार्यकाल शुरू करने वाले शी को तीसरा कार्यकाल और उसके बाद भी आजीवन राष्ट्रपति बने रहने का प्रस्ताव दिया गया था. जिसके बाद चीन के साथ-साथ विदेशों में भी अटकलों का दौर शुरू हो गया था.

Loading...

गौरतलब है कि चीनी क्रांति के बाद पार्टी के संस्थापक माओ जेदोंग ने भी एकतरफा सत्ता पर राज किया था. एक जानकारी के मुताबिक चीन में संविधान के मुताबिक राष्ट्रपति कार्यकाल की सीमा तो तय की गई है, लेकिन पार्टी प्रमुख और सैन्य प्रमुख के कार्यकाल पर किसी प्रकार की समय सीमा निर्धारित नहीं की गई है. चीन के राष्ट्रपति के कार्यकाल में भी इसी परंपरा का इस्तेमाल किया जाता है. उल्लेखनीय है कि शी साल 2012 से चीन की सत्ता पर काबिज है. इसके अलावा वह पार्टी व सेना अध्यक्ष भी रहे है.

Loading...
E-Paper