omg…ये है महिलाओं का सबसे ज्यादा विकसित होने वाला अंग

Loading...

जैसा की आप जानते हैं कि हिन्दु धर्म के अनुसार इंसान के शरीर के अंग उसके भविष्य के बारे में कई राज बताते हैं। तथा इनसे उसके भविष्य का अनुमान लगाया जा सकता है। बता दें कि ऐसा ही कुछ महिला के अंग उसके बारे में बहुत कुछ बताते हैं। कहा जाता है कि हर सफल इंसान की जिंदगी के पीछे एक स्त्री का हाथ होता है। वहीं सामुद्रिक शास्त्र के अंतर्गत सौभाग्यशाली महिलाओं की कुछ विशेषताओं के बारे में बताया गया है। आज हम आपको इस आर्टिकल में महिलाओं के ऐसे अंगों के बारे में बताने जा रहे हैं जिनका विकास अगर पुर्ण रुप से होता है तो वे महिलाएं संभोग का पुराा सुख देती हैं।

पैरों के तलवे – आपकी जानकारी के लिए बात दें कि सामुद्रिक शास्त्र के अनुसार जिन महिलाओं के पैरों के तलवों के नीचे त्रिकोण का निशान बना हुआ होता है वे महिलाएं बुद्धिमान और सूझ-बूझ वाली होती हैं और वह वे अपनी समझ और ज्ञान से अपने परिवार की मदद करती है।

नाभि – सामुद्रिक शास्त्र के अनुसार जिन महिलाओं के नाभि के आसपास या ठीक नीचे मस्सा या तिल होता है तो वे अपने परिवार के लिए बहुत लकी होती है।

तलवों पर शंख – सामुद्रिक शास्त्र के अनुसार जिन महिलाओं के पैरों के तलवों पर शंख, कमल या चक्र बना हो तो वह महिला क़िस्मत की धनी होती है और वह स्वयं या फिर उनके पति किसी बड़े ओहदे पर होते हैं।नाक के पास मस्सा – आपको बता दें कि सामुद्रिक शास्त्र के अनुसार जिन महिलाओं की नाक के अगले हिस्से पर तिल या मस्सा होता है उनपर किस्मत बहुत मेहरबान होती है।

गहरी नाभि – सामुद्रिक शास्त्र के अनुसार जिन महिलाओं की नाभि गहरी तो होती है लेकिन अंदर की ओर से उठी हुई नहीं होती, वे अपने जीवन में सिर्फ और सिर्फ सुख ही भोगती हैं।

गुलाबी पांव – आपकी जानकारी के लिए बता दें कि सामुद्रिक शास्त्र के अनुसार जिन महिलाओं के पैर बहुत सॉफ्ट, रंग में गुलाबी और पूरी तरह विकसित होते हैं, अपने पति या प्रेमी को बेहद खुश रखती हैं, शारीरिक सम्बन्धों में उनकी रुचि सबसे ज्यादा होती है।

Loading...