तीसरे टेस्ट में कोहली ने लिया अनोखा फैसला, दुनिया भी रह गई हैरान

जोहानिसबर्ग में खेले जा रहे मौजूदा टेस्ट सीरीज़ के तीसरे और आखिरी मैच में टीम इंडिया ने दो बदलाव किए। इस मैच में विराट कोहली ने अजिंक्य रहाणे को रोहित शर्मा के स्थान पर मौका दिया, तो आर. अश्विन की जगह भुवनेश्वर कुमार को जगह दी गई। इसका मतलब कि इस टेस्ट मैच में भारतीय टीम बिना किसी स्पिन गेंदबाज़ के मैदान पर उतरी है।

तीसरे टेस्ट में कोहली ने लिया अनोखा फैसला, दुनिया भी रह गई हैरान

6 साल के बाद हुआ ऐसा

टीम इंडिया किसी टेस्ट मैच में बिना स्पिन गेंदबाज़ के उतरी हो ऐसा 6 साल के बाद हुआ है। इससे पहले टीम इंडिया ने ऐसा ऑस्ट्रेलिया में किया था। 2012 में पर्थ के मैदान पर खेले गए मुकाबले में भारतीय टीम 4 तेज़ गेंदबाजों के साथ उतरी थी। उस मुकाबले में ज़हीर खान, इशांत शर्मा, उमेश यादव और विनय कुमार को मौका दिया गया था। आपको बता दें कि 1990 के बाद ये तीसरा मौका है, जब भारतीय टीम बिना किसी स्पिन गेंदबाज़ के टेस्ट मैच खेलने उतरी है।

Loading...

मैच में नहीं खेल रहा कोई स्पिनर

भारतीय टीम ने तो इस अहम मुकाबले में 5 तेज़ गेंदबाज़ों को मौका दिया है, वहीं द. अफ्रीका की तरफ से भी इस मैच में कोई स्पिन गेंदबाज़ नहीं खेल रहा है। जहां भारत ने अश्विन की जगह भुवनेश्वर कुमार को प्लेइंग इलेवन में शामिल किया है, तो वहीं द. अफ्रीकी टीम ने भी इस मुकाबले के लिए स्पिनर केशव महाराज की जगह तेज़ गेंदबाज़ एंदिले फेलुक्वायो को मौका दिया है।

जोहानिसबर्ग में खेले जा रहे इस मुकाबले के लिए पिच क्यूरेटर ने पिच पर से घास नहीं हटाई थी। पिच पर घास होने की से इस मुकाबले में तेज़ गेंदबाज़ों को विकेट से काफी मदद मिलेगी और यही वजह है कि दोनों टीमों ने इस मुकाबले के लिए अपनी टीमों में किसी भी स्पिन गेंदबाज़ को शामिल नहीं किया है। दक्षिण अफ्रीका के कप्तान फाफ डु प्लेसिस पिच को देखकर काफी खुश नज़र आए और विराट ने इसको लेकर कहा कि ये केपटाउन की तरह ही जीवंत पिच होगी। हालांकि, यहां पर घास उससे ज्यादा है।

Loading...
E-Paper