श्रीलंका में शिखर धवन हुए बड़ी अनहोनी का शिकार

- in खेल

नई दिल्ली. श्रीलंका के खिलाफ T20 मुकाबले में शिखर धवन ने कमाल की पारी खेली. उन्होंने 49 गेंदों पर 90 रन बनाए, जिसमें 6 छक्के और 6 चौके शामिल थे. श्रीलंकाई सरजमीं पर इंटरनेशनल T20 ऐसा पहली बार हुआ जब धवन ने एक पारी में 2 या उससे ज्यादा छक्के जड़े. वो भी 180 की ज्यादा के स्ट्राइक रेट से . लेकिन, इतने धाकड़ अंदाज में इस बड़ी पारी को खेलने वाले शिखर धवन श्रीलंकाई सरजमीं पर एक बड़ी अनहोनी का शिकार हो गए हैं.

श्रीलंकाई सरजमीं पर धवन के साथ क्या अनहोनी हुई उससे जानने से पहले आपको टीम इंडिया के प्रदर्शन पर गौर करना होगा. टीम इंडिया को श्रीलंका के खिलाफ पहले T20 में 5 विकेट की हार से दो चार होना पड़ा है. विराट और धोनी की गैरमौजूदगी में मिली ये हार सिर्फ एक मुकाबले की हार नहीं बल्कि इससे जीत के एक सिलसिले का अंत हुआ है. दूसरे लहजे में कहें तो इस हार ने टीम इंडिया पर बड़ा असर डाला है.

टूटा लगातार 7 T20 जीत का सिलसिला

कोलंबो टी20 में भारत को हराकर श्रीलंका ने इंटरनेशनल T20 में अपने खिलाफ उसके लगातार जीत के सिलसिले को तोड़ा है. इससे पहले टीम इंडिया श्रीलंका से लगातार 7 इंटरनेशनल T20 मुकाबले जीत चुकी थी. लेकिन, कोलंबो में खेला गया आठवां इंटरनेशनल T20 श्रीलंका के नाम रहा और साल 2016 से 2018 के बीच टीम इंडिया के बैक टू बैक जीते 7 T20 मैचों पर विराम लग गया.

इंटरनेशनल क्रिकेट में लगातार सबसे ज्यादा 9 T20 मुकाबले जीतने का रिकॉर्ड पाकिस्तान के नाम है जो उसने जिम्बाब्वे के खिलाफ साल 2008 से 2015 के बीच जीते हैं. बता दें कि श्रीलंका के खिलाफ लगातार 7 इंटरनेशनल T20 जीतने से पहले भारतीय टीम ऑस्ट्रेलिया (2013-17) और बांग्लादेश (2010-17) के खिलाफ भी 7-7 T20 मैच जीत चुकी है.

Loading...

11 मैच बाद श्रीलंका में मिली हार

कोलंबो T20 में मिली हार भारत की श्रीलंका में मिली पिछले ढाई साल में मिली पहली हार है. इससे पहले श्रीलंका में आखिरी मैच भारत ने 15 अगस्त 2015 को गंवाया था, जब उसे गॉल टेस्ट में करारी शिकस्त मिली थी. गॉल में मिली हार के बाद से भारत ने श्रीलंका में 11 इंटरनेशनल मैच खेले और सभी जीते.

इसमें 5 टेस्ट, 5 वनडे और 1 T20 शामिल है. लेकिन भारतीय टीम विराट और धोनी के बिना श्रीलंका में 12वें मैच का चक्रव्यूह नहीं तोड़ सकी. साफ है कोलंबो T20 में टीम इंडिया के खराब प्रदर्शन का असर उसके रिकॉर्ड्स पर भी पड़ा है. भारतीय टीम के इस घटिया प्रदर्शन की वजह से शिखर धवन के साथ बड़ी अनहोनी कैसे हो गई अब जरा वो समझिए.

धवन के साथ अनहोनी

दरअसल, कोलंबो में खेली 90 रन की पारी धवन के T20 करियर की सबसे बड़ी पारी तो थी ही साथ ही क्रिकेट के इस फॉर्मेट में उनका 5वां अर्धशतक था. धवन ने इससे पहले जो 4 T20 अर्धशतक जमाए थे उसमें भारत को जीत मिली थी. उम्मीद कोलंबो में भी यही थी लेकिन ऐसा नहीं हो सका. पिछले 4 T20 अर्धशतकों की तरह का धवन का 5वां अर्धशतक भारत की हार नहीं टाल सका. इससे टीम की जीत के सिलसिले पर तो ब्रेक लगा ही, इंटरनेशनल T20 में शिखर धवन के साथ भी अर्धशतक जड़ने के बाद जो पहले कभी नहीं हुआ था वो कोलंबो में खेले गए T20 में हो गया.

Loading...
E-Paper