पुलिस महानिदेशक ओपी सिंह सोमवार की देर शाम अचानक पहुंचे सीतापुर

सीतापुर:- पुलिस महानिदेशक ओपी सिंह सोमवार की देर शाम अचानक सीतापुर पहुंचे। यहां उन्होंने पुलिस लाइन सभागार में चल रही क्राइम मीटिंग में पहुंचकर जिले की कानून व्यवस्था की समीक्षा की। डीजीपी के आगमन को लेकर जिले की पुलिस शाम से ही मुस्तैद हो गई थी। जिले के सभी थानों, पुलिस चौकी और पिकेट ड्यूटी को हाई अलर्ट पर रखा गया था। आशंका जताई जा रही है कि डीजीपी किसी भी थाने का निरीक्षण कर सकते हैं।

हालांकि डीजीपी के कार्यक्रम से मीडिया कर्मियों को दूर रखा जा रहा था। लेकिन क्राइम मीटिंग समाप्त होने के बाद वह मीडिया से रूबरू हुए। डीजीपी ने पत्रकारों से वार्ता करते हुए कहा कि पूरे प्रदेश की पुलिस को एक ही निर्देश है कि अपराधियों के विरुद्ध कड़ी से कड़ी कार्यवाही की जाए। पूरे प्रदेश में आमजन में सुरक्षा की भावना व्याप्त हो। मुझे जब भी समय मिलता है मैं जिलों का भृमण करता हूँ। इसी क्रम में आज सीतापुर आया हूँ। मैने अपने कप्तान और सभी थानाध्यक्ष को यही निर्देश दिए है कि पुलिस प्रभावी कार्यवाही करें। पुलिस का ब्रेक डाउन लगातार जारी रहेगा।

पिछले कुछ महीनों में तीन हजार अपराधी पकड़े गए है जिनमें 15 सौ ऐसे अपराधी थे जिन पर इनाम घोषित था। हमारे अधिकारियों की यही कोशिश है कि जनता के बीच विश्वास बनाये रखें। अपराधियों में पुलिस का खौफ बना रहे। क्राइम मीटिंग में पुलिस अधीक्षक आंनद कुलकर्णी, अपर पुलिस अधीक्षक उत्तरी मधुबन सिंह, दक्षिणी मार्तण्ड प्रताप, सभी सीओ व कोतवाल सहित पूरा पुलिस महकमा मौजूद रहे। डीजीपी क्राइम मीटिंग के बाद बिना किसी थाने का निरीक्षण किये राजधानी के लिए रवाना हो गए।
Loading...
E-Paper