महाराष्ट्र में राणे को भाजपा से जोड़ने की तैयारी पूरी, राज्यसभा भेजे जाएंगे

नई दिल्लीः महाराष्ट्र के पूर्व मु्ख्यमंत्री नारायण राणे को भाजपा में शामिल करने की रणनीति लगभग पूरी कर ली गई है. भाजपा ने वैसे साफ कर दिया है कि वह राणे को मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस की सरकार में शामिल नहीं कर पाएगी लेकिन उन्हें राज्यसभा भेज सकती है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक भाजपा ने राणे को राज्यसभा भेजने का प्रस्ताव दिया है.

इस बारे में बुधवार देर शाम को दिल्ली में फैसला लिया गया. वहां पर भाजपा अध्यक्ष अमित शाह, मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस और राणे की एक बैठक हुई थी. माना जा रहा है कि 2019 के लोकसभा चुनाव के मद्देनजर राणे को यह प्रस्ताव दिया गया है. इस बारे में महाराष्ट्र स्वाभिमान पक्ष के प्रमुख राणे ने भी कहा है कि उन्हें राज्यसभी सीट का ऑफर मिला है. राणे ने आगे कहा कि उन्होंने अपना फैसला बताने के लिए कुछ समय लिया है.

हालांकि राणे ने यह भी कहा है कि वह राज्य सरकार के साथ काम करना चाहते हैं और 2019 के बाद उनकी योजना दिल्ली जाने की थी. लेकिन उन्होंने संकेत दिया कि वह मौजूदा एक मात्र विकल्प राज्यसभा में जाने पर विचार करेंगे. उन्होंने यह भी कहा कि लगता है कि सीएम फडणवीस को उन्हें कैबिनेट में शामिल करने में मुश्किल आ रही है. गौरतलब है कि राणे और भाजपा में लगभग छह महीने से बातचीत चल रही थी, लेकिन हर बार यह मामला टलता रहा है. माना जा रहा है कि अब जल्द ही राणे एनडीए में नजर आ सकते हैं.

शिवसेना के तीखे तेवर से भाजपा की रणनीति बदली

पार्टी नेताओं का कहना है कि पहले भाजपा खुद को महाराष्ट्र में बेहद मजबूत मान रही थी लेकिन हाल के महीनों में जिस तरह से शिवसेना के तेवर और तीखे हुए हैं और माहौल में बदलाव हुआ है, उसे देखते हुए अब भाजपा ने राणे को सीधे पार्टी में लेने की बजाय उनकी पार्टी को एनडीए का हिस्सा बनाने पर विचार किया है.

पार्टी नेताओं का कहना है कि दरअसल, भाजपा के लिए दिक्कत यह भी है कि अगर वह राणे को सीधे पार्टी में ही शामिल करती है तो इससे शिवसेना के तेवर और तीखे हो जाएंगे. फिलहाल भाजपा ऐसा नहीं चाहती. यही वजह है कि बुधवार रात को हुई बातचीत में इस बात पर विचार किया गया कि राणे को सीधे भाजपा में लेने की बजाय उनकी पार्टी को एनडीए का हिस्सा बना लिया जाए. बदले में राणे को राज्यसभा से लाया जा सकता है. आने वाले दिनों में महाराष्ट्र से भाजपा को राज्यसभा की तीन सीटें मिलनी हैं. इनमें से एक सीट राणे को दी जा सकती है.

Loading...
E-Paper