ये है चिमटे वाला बाबा, सिर्फ महिलाओ का इलाज करते है वो भी ऐसे….

यहाँ बहुत से किसी न किसी परेशानी से जूझ रहे लोग इस विश्वास के साथ आते हैं की चिमटे से मारने वाले बाबा उनको स्वस्थ कर देगे |इसके उलट चिमटे मारने वाले बाबा रोग को ठीक करने के बहाने महिलाओ के साथ कुछ आपत्तिजनक हरकत कर देते हैं |भोलापुर गाँव जी राजनांदगाँव शाहर से मात्र 60 किलोमीटर दूर हैं | इसी गाँव में एक इंसान , भगत देशलहरे चिमटावाले बाबा के नाम से ख्याति प्राप्त हो चूका हैं |

हफ्ते के दिन रविवार और बुधवार तथा शुक्रवार को किसी न किसी रोग से पीड़ित लोग यहं भारी तादाद में आते हैं | आप अंदाजा इस बात से लगाईंये इतनी भीड़ छुरिया और डोंगरगाँव के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में नहीं होती उतनी भीड़ इन चिमटे वाले बाबा के यहाँ हो जाती हैं | इसको लोगो का अंधविश्वास कहिये या कुछ और लेकिन लोग अपना इलाज करवाने अस्पताल जाने की बजाय बाबा के पास जाना उचित समझते हैं और यह बाबा गृह नक्षत्र की बुरी दशा , भुत प्रेत, जादू टोने का सहारा लेक्कर देसी स्टाइल में लोगो का उपचार करते हैं | अगले पेज पर जानिए ये चिमटे वाला बाबा इलाज के नाम पर महिलाओ के साथ क्या कर करता है….

छुरिया सीएचसी में हर रोज 100 पीडितो की ओपीडी हैं वही डोंगरगांव में करीब 200 लोगो की |और इसके विपरीत चिमटे वाले बाबा के दरबार में चिमटे की मार के अलावा भभूत से इलाज करवाने 300 से अधिक लोग यहाँ प्रस्थान करते हैं |जबकि इतवार के दिन यह संख्या 400 के करीब पहुँच जाती हैं |इन मरीजो में सबसे अधिक पागलपन का शिकार लोग आते हैं और यही नही कमर दर्द , माँ का दूध ना उतरना , सन्तान प्राप्ति, माइग्रेन और गृह क्लेश तथा पडोसी से अनबन जैसी विपदाओं से पीछा छुडाने के लिए यह चिमटे वाले बाबा लोगो को चावल तथा भभूत देकर चिमटे से मारकर ठीक करने का दावा करते हैं |

एक शख्स जो राजनांदगाँव के नवागांव का निवासी अपनी पुत्री को लेकर बाबा के पास आया |उसकी पुत्री ने पांच माह पहले एक सन्तान को जन्म दिया था लेकिन उसके बच्चे के लिए दूध पर्याप्त मात्रा में नही था |जब चिमटे वाले बाबा ने उस पीडिता की यह परेशानी सुनी तब उन्होंने चावल के पांच दाने और गेंदे का फुल हाथ में देकर उसको जल्दी खाने का आदेश दिया और यही नही उस पीडिता को अपने सामने खड़े कर उसके सिने पर हाथ फिराया |उसके उपरान्त उसकी पीठ पर चिमटे से दो बार मारा और कहा की,घबराइये नही शीघ्र दूध आना शुरू हो जायेगा |