उत्तर प्रदेश में अगस्त से गरीबों का मुफ्त इलाज

- in Main Slider, उत्तरप्रदेश

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के निवासी गरीब परिवारों को अब मुफ्त इलाज की ख्वाहिश जल्द पूरी होंगी। केंद्र सरकार ने नेशनल हेल्थ प्रोटेक्शन स्कीम (एनएचपीएस) को अगस्त से लांच करने की तैयारियां तेज कर दी हैं। इस योजना के प्रथम चरण में उत्तर प्रदेश समेत चार राज्यों को शामिल किया गया है। इन चारों राज्यों में अप्रैल से टेंडर की प्रक्रिया शुरू होगी।

दरअसल, एनएचपीएस प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की महात्वाकांक्षी योजना है। इसमें देश की करीब 40 फीसद आबादी को कैशलेस इलाज उपलब्ध कराने का प्लान है। गरीब मरीजों को पांच लाख तक के मुफ्त इलाज की तिथि अब तय कर दी गई है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा ने प्रथम चरण में चार राज्यों में योजना लागू करने का फैसला किया है। फरवरी के बीते सप्ताह में दिल्ली में हुई कार्यशाला में अफसरों को प्रशिक्षण के साथ-साथ गाइड लाइन भी जारी कर दी गई है।

अन्य सभी राज्यों में अक्टबूर में लांचिंग

केंद्र सरकार ने प्रथम चरण में उत्तर प्रदेश, हरियाणा, जम्मू-कश्मीर और केंद्र शासित चंडीगढ़ को शामिल किया है। इन राज्यों में स्वतंत्रता दिवस के दिन से मरीजों को मुफ्त इलाज का तोहफा मिलेगा। 15 अगस्त से लाभार्थियों के बनाए गए सभी हेल्थ कार्ड रन करने लगेंगे। वहीं शेष राज्यों में अक्टूबर से योजना शुरू होगी।

Loading...

निजी अस्पताल भी होंगे शामिल

स्वास्थ्य बीमा योजना में सरकारी अस्पताल से लेकर निजी अस्पताल शामिल होंगे। यह प्रक्रिया बीमा कंपनियों के चयन के बाद पूरी होगी। इसमें निजी अस्पतालों के इलाज के प्रस्तावित शुल्क का अध्ययन भी किया जाएगा। उत्तर प्रदेश में योजना के स्टेट नोडल अफसर डॉ. एके सिंह ने कहा कि राज्य में 15 अगस्त से मरीजों को मुफ्त लाभ मिलने लगेगा। इसके लिए अप्रैल में टेंडर जारी किया जाएगा। बीमा कंपनियों के चयन के साथ-साथ सोशल इकोनॉमिक कास्ट सेंसस (एसईसीसी) डाटा से मिलान कर लाभार्थी तय किए जाएंगे। 

 
 
Loading...