‘आप’ की अधिकारियों से अपील, काम बाधित न होने दें, एलजी ने गृहमंत्री को बताया अधिकारियों के मुश्किलों के बारे में

- in Main Slider, राजनीति, राष्ट्रीय

नई दिल्ली: दिल्ली में सत्ताधारी आम आदमी पार्टी (आप) ने पार्टी के विधायकों की ओर से मुख्य सचिव अंशु प्रकाश पर किए गए कथित हमले के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे सरकारी अधिकारियों से शनिवार को अपील की कि वे काम बाधित नहीं करें. ऐसा करने से प्रशासन प्रभावित होगा. इस बीच, शहर के अधिकारियों के एक फोरम ने केंद्रीय कैबिनेट सचिव से मुलाकात की और अपने ‘‘काम करने की मुश्किल स्थितियों’’ से उन्हें अवगत कराया.

‘आप’ सरकार और नौकरशाहों के बीच गतिरोध के बीच उप-राज्यपाल अनिल बैजल ने केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह से मुलाकात की. मुलाकात में उप-राज्यपाल ने राजनाथ को घटना और ‘आप’ सरकार में मौजूदा हालात से अवगत कराया.

दिल्ली सरकार का प्रशासन प्रभावित होने पर ‘आप’ ने अधिकारियों को मनाने की कवायद शुरू की है. ‘आप’ की दिल्ली इकाई के मुख्य प्रवक्ता सौरभ भारद्वाज ने कहा, ‘‘हम अधिकारियों से अपील करते हैं कि वे काम बाधित नहीं करें, क्योंकि इससे प्रशासन प्रभावित होता है.’’ मुख्यमंत्री केजरीवाल और उनके कैबिनेट सहकर्मियों ने इससे पहले शुक्रवार को उप-राज्यपाल अनिल बैजल से मुलाकात कर सरकार एवं नौकरशाही के बीच तनाव कम करने में उनके दखल का अनुरोध किया था.

Loading...

देश के वरिष्ठतम नौकरशाह कैबिनेट सचिव पी के सिन्हा से अपनी मुलाकात के दौरान दिल्ली सरकार के कर्मियों एवं अधिकारियों के एक संयुक्त फोरम ने उन्हें काम करने की मुश्किल स्थितियों के बारे में बताया. फोरम ने एक बयान में कहा, ‘‘कैबिनेट सचिव ने सभी मौजूद कर्मियों एवं अधिकारियों की बातें धैर्यपूर्वक सुनी और माना कि वे एक मुश्किल स्थिति में काम कर रहे हैं. उन्होंने सभी कर्मियों को पूरा प्रशासनिक एवं नैतिक समर्थन देने का आश्वासन दिया. बहरहाल, उन्होंने कहा कि नागरिकों को असुविधा नहीं होनी चाहिए और सेवाओं की आपूर्ति जारी रहनी चाहिए. इस पर सभी अधिकारियों ने पूरे सहयोग का आश्वासन दिया.’’

अंशु प्रकाश पर कथित हमले के खिलाफ अपना विरोध दर्ज कराने के लिए आईएएस एवं दिल्ली एवं अंडमान निकोबार द्वीपसमूह सिविल सेवा (दानिक्स) के अधिकारी पिछले तीन दिनों से दिल्ली सरकार के मंत्रियों की ओर से बुलाई जा रही बैठकों का बहिष्कार कर रहे हैं. अधिकारियों के मुताबिक, मुख्यमंत्री की ओर से घटना पर माफी मांगे जाने तक वे सिर्फ लिखित संवाद ही करेंगे.

Loading...