ट्रामा का ड्रामा: करोड़ों खर्च डॉ. फिर भी रहते नदारद

हरदोई में स्वास्थ्य व्यवस्था हुई धराशाही, डॉ खुद उड़ा रहे स्वास्थ्य व्यवस्था का मखौल

1–आइए अब आपको हम वह तस्वीरें दिखाते हैं जो आप देख कर दंग रह जाएंगे हरदोई जनपद के  लोगों के इलाज के लिए करोड़ों खर्च करने के बाद बना ट्रामा सेंटर सिर्फ ड्रामेबाजी नजर आ रही है क्योंकि मशीनें भी मौजूद हैं जो करोड़ों खर्च कर  लाई गई और आलीशान बिल्डिंग भी मौजूद है लेकिन नहीं है तो सिर्फ डॉक्टर मतलब आप नहीं समझ रहे होंगे इसका मतलब यह है कि यहां पर ट्रामा सेंटर में 4 डॉक्टरों की तैनाती है लेकिन इस समय कोई भी मौजूद नहीं है.

यहां डॉक्टर आते हैं और कब चले जाते हैं कोई पता नहीं आकस्मिक कच्छ डॉक्टर की कुर्सियां खाली पड़ी है लगभग सारे ट्रामा सेंटर मे  डॉक्टर साहेब का अता-पता नहीं है सरकार द्वारा अच्छी स्वास्थ्य व्यवस्था को लेकर करोड़ों खर्च करने के बाद भी बदहाल व्यवस्था अब भी है जिम्मेदार कोई भी ध्यान नहीं दे रहा वहां के कर्मचारियों ने बताया डॉक्टर साहब काम से गए हैं.

जब 1:00 बजे ट्रामा सेंटर में हमारी टीम द्वारा पड़ताल की गई तो डॉक्टरों की कुर्सियां खाली मिली क्या सभी डॉक्टर अपने अपने काम से गए थे तो फिर मरीजों को कौन देख रहा था या फिर सिर्फ  ट्रामा का ड्रामा—- वही प्लास्टर रूम  को गैराज बना दिया गया है वहां पर प्लास्टर रूम में डॉक्टरों की गाड़ियां खड़ी करी जाती हैं आप साफ तस्वीरों में देख सकते हैं किस तरीके से प्लास्टर रूम में बाइक खड़ी है ऐसे तो नहीं हो सकती बेहतर स्वास्थ्य व्यवस्था अब देखने वाली बात यह होगी कि खबर चलने के बाद जिम्मेदार कितना ध्यान देते हैं

Loading...
E-Paper