साउथ अफ्रीका के ‘कॉम्बो ऑफर’ ने लगातार दूसरी सीरीज में तोड़ा विराट का ‘हसीन’ सपना

- in खेल

नई दिल्ली. टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली कई सारे हसीन ख्वाब लेकर साउथ अफ्रीका पहुंचे थे. क्रिकेट के सादे लिबास में तो ये पूरा नहीं हो सका और रंगीन लिबास में पूरा भी हो रहा है तो ये हसीन ख्वाब के सच होने जैसा नहीं है. विराट कोहली का ये हसीन ख्वाब क्या है और कैसे साउथ अफ्रीका का कॉम्बो ऑफर इसमें रोड़ा बना अब जरा वो समझिए. कॉम्बो ऑफर वो होता है जहां एक के साथ दूसरी चीज फ्री हो. साउथ अफ्रीका को भी बारिश के साथ क्लासेन का धमाल फ्री में मिला है, जिसके दम पर वो विराट कोहली का हसीन ख्वाब तोड़ने में सफल रहे.

‘क्लीन स्वीप’ का हसीन ख्वाब चकनाचूर

विराट कोहली मकसद अपनी टीम को साउथ अफ्रीका में सिर्फ पहली T20 सीरीज जीतने वाली टीम बनाने का ही नहीं है बल्कि वो और उनकी टीम ये कमाल क्लीन स्वीप के साथ करना चाहती थी. लेकिन, सेंचुरियन T20 में मिली हार के बाद अब ऐसा हो पाना नामुमकिन है.

बारिश और क्लासेन के ‘कॉम्बो’ ने तोड़ा सपना

सेंचुरियन में बारिश और क्लासेन के बेजोड़ कॉम्बो ने साउथ अफ्रीकी टीम की चांदी करते हुए एक बार फिर शानदार जीत की स्क्रिप्ट लिखी. बारिश के दबाव से टीम इंडिया पर लगातार डकवर्थ लुईस नियम का खतरा बना रहा. शुरुआती 5 ओवर को छोड़ दें तो पूरे मैच के दौरान साउथ अफ्रीका डकवर्थ लुईस नियम से टीम इंडिया पर हावी दिखी. वहीं दूसरी ओर बारिश के मिले साथ से क्लासेन के बल्ले का मुंह भी खुलता रहा.

अपनी डेब्यू सीरीज में धमाका करते हुए हेनरिक क्लासेन ने 30 गेंदों पर 69 रन बनाए और अपनी टीम की जीत की बेस तैयार की. क्लासेन की इस धमाकेदार पारी में 3 चौके और 7 आसमानी छक्के शामिल रहे. भारतीय गेंदबाजों पर कहर बरपाती इस ताबड़तोड़ पारी के लिए क्लासेन को मैन ऑफ द मैच चुना गया.

Loading...

ये लगातार दूसरी सीरीज है जिसमें बारिश और क्लासेन का कॉम्बो जीत और विराट एंड कंपनी के बीच रोड़ा बना है. इससे पहले जोहान्सबर्ग में खेले वनडे सीरीज के चौथे मैच में भी बारिश और क्लासेन टीम इंडिया की राह का रोड़ा बने थे. इस मैच में टीम इंडिया ने पहले खेलते हुए शिखर धवन के शानदार शतक के दम पर 50 ओवर में 289 रन बनाए थे. लेकिन, बारिश की वजह से डकवर्थ लुईस नियम के आधार पर साउथ अफ्रीका को जीत के लिए 28 ओवर में 202 रन का लक्ष्य मिला. इस लक्ष्य को क्लासेन की तूफानी पारी के दम पर साउथ अफ्रीका ने 5 विकेट से जीता. क्लासेन ने इस मैच में 5 चौके और 1 छक्के के दम पर 27 गेंदों पर नाबाद 43 रन बनाए और मैन ऑफ द मैच बने.

दौरे पर 2 बार क्लासेन बने रोड़ा

खास बात ये है कि रंगीन लिबास वाले क्रिकेट में जिन दो सीरीज के दो मैचों में भारत हारा उस मुकाबले के हीरो हेनरिक क्लासेन रहे. ये दोनों ही सीरीज क्लासेन की डेब्यू सीरीज भी थी. सेंचुरियन में भारत ने पहले खेलते हुए धोनी और पांडे की धमाकेदार अर्दशतकीय पारी के दम पर साउथ अफ्रीका के सामने जीत के लिए 189 रन का लक्ष्य रखा.

लेकिन अफ्रीकी टीम ने क्लासेन और कप्तान ड्यूमनी की शानदार पारी के दम पर इस लक्ष्य को 8 गेंद पहले ही हासिल करते हुए मुकाबले को 6 विकेट से जीत लिया. बहरहाल, सेंचुरियन T20 में हार के बाद वनडे सीरीज की ही तरह T20 सीरीज में भी क्लीन स्वीप करने का विराट का हसीन सपना भी अब टूट चुका है. खास बात ये है कि दोनों ही मौकों पर ये काम बारिश और क्लासेन के अफ्रीकी कॉम्बो ने किया है. 

Loading...