चीफ सेक्रेटरी से मारपीटः AAP MLA जारवाल हिरासत में, अमानतुल्ला की तलाश तेज

- in राष्ट्रीय

नई दिल्ली. दिल्ली के मुख्यमंत्री के आवास पर मुख्य सचिव के साथ कथित तौर पर मारपीट करने के मामले में आप विधायक प्रकाश जरवाल को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है. पुलिस सूत्रों ने बताया कि उन्हें देवली स्थित उनके आवास से मंगलवार रात हिरासत में लिया गया. उन्हें बाद में गिरफ्तार किया जा सकता है. दिल्ली के मुख्य सचिव अंशु प्रकाश ने आरोप लगाया है कि मुख्यमंत्री के आवास पर एक बैठक के दौरान आप विधायक अमानतुल्ला खान और अन्य ने उनके साथ मारपीट की थी.

दिल्ली पुलिस ने प्रकाश की शिकायत के आधार पर खान और अन्य के खिलाफ एक एफआईआर दर्ज कर ली है. इससे पहले, देवली के विधायक जरवाल और अंबेडनगर के आप विधायक अजय दत्त ने दावा किया कि नौकरशाह ने जातिसूचक टिप्पणियां कीं. उन्होंने अधिकारी के खिलाफ दिल्ली पुलिस तथा राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग में एक शिकायत भी दर्ज कराई है.

वहीं आप के दिल्ली इकाई के मुख्य प्रवक्ता सौरभ भारद्वाज ने दावा किया कि जरवाल को ओछी शिकायत के आधार पर गिरफ्तार किया गया है. भारद्वाज ने ट्वीट किया, ‘दिल्ली पुलिस ने निर्वाचित विधायक को बिना किसी सबूत के गिरफ्तार किया. उन आईएएस अधिकारियों का क्या जिन्हें सचिवालय में मंत्रियों के साथ मारपीट करते देखा जा सकता है? मंत्री ने एफआईआर दर्ज कराई और साक्ष्य भी पेश किए लेकिन कोई गिरफ्तारी नहीं हुई.’

अमानतुल्ला की तलाश में छापे

दिल्ली पुलिस प्रकाश जारवाल से पूछताछ कर रही है. इसके साथ ही ओखला से आप एमएलए अमानतुल्ला खान भी इस मामले में आरोपी हैं. खान की तलाश में पुलिस उनके घर पहुंची लेकिन वो नहीं मिले. समाचार एजेंसी एएनआई पर आई तस्वीरों में देर रात आप विधायक अमानतुल्ला के घर के बाहर पुलिस का भारी जमावड़ा था.

क्या है पूरा मामला

Loading...

मुख्य सचिव ने आरोप लगाया है कि सोमवार देर रात मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के आवास पर उन्हें बैठक के लिए बुलाया गया था. इस दौरान आप विधायकों ने सरकारी विज्ञापन रिलीज करने का दबाव बनाया और उनके साथ मारपीट की. इस घटना को लेकर मुख्य सचिव ने दिल्ली पुलिस में कंप्लेन दी, जिसके बाद ओखला विधायक अमानतुल्ला समेत अन्य विधायकों के खिलाफ केस दर्ज किया गया.

नौकरशाहों ने किया बहिष्कार का फैसला

दिल्ली के मुख्य सचिव अंशु प्रकाश पर कुछ आप विधायकों के कथित हमले को लेकर नाराज नौकरशाहों ने कहा कि जब तक मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल इस घटना को लेकर माफी नहीं मांगेंगे तब तक वे केजरीवाल और उनके मंत्रिमंडलीय सहयोगियों द्वारा बुलाई जाने वाली बैठकों का बहिष्कार करेंगे. अधिकारियों की तीन एसोसिएशनों… आईएएस (इंडियन एडमिनिस्ट्रेटिव सर्विस), डीएएनआईसीएस (दिल्ली अंडमान एंड निकोबार आईलैंड्स सिविल सर्विस) व डीएसएसएस (दिल्ली सबऑर्डिनेट सर्विसेज सलेक्शन बोर्ड) ने मंगलवार रात एक बैठक में एक प्रस्ताव पारित किया है.

केंद्रीय मंत्री ने की निंदा

इस बीच केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने दिल्ली के मुख्य सचिव अंशु प्रकाश पर हुए कथित हमले की निंदा की. उन्होंने कहा ‘मैं इस तरह के मामलों में जाना नहीं चाहता. मैं खुद 40 साल से अधिक समय तक नौकरशाह रहा हूं और मैंने (एक आईएएस अधिकारी के साथ) इस तरह का आचरण नहीं देखा.’ उन्होंने कहा ‘मैं निजी स्तर पर बोल रहा हूं. इस तरह के आचरण की कड़े शब्दों में निंदा की जानी चाहिए.’

Loading...
E-Paper