पीएनबी घोटाले में हुआ बड़ा खुलासा, ऐसे खेला जा रहा था धोखाधड़ी का खेल

पंजाब नेशनल बैंक में हुए 11,400 करोड़ रुपए के घोटाले में बड़ा खुलासा हुआ है। शनिवार को गिरफ्तार किए गए तीनों आरोपियों ने कबूल किया है कि उन्‍हें एलओयू (लेटर ऑफ अंडरटेकिंग) जारी करने के बदले रिश्वत मिलती थी। उन्‍हें एलओयू की राशि के आधार पर एक निश्चित राशि मिलती थी और इस प्रक्रिया में शामिल सभी लोगों में बराबर बांटी जाती थी। बताया जा रहा है कि पीएनबी के कुछ और अधिकारियों के इस घोटाले में शामिल होने की आशंका है। पीएनबी द्वारा साझा किए गए आंकड़ों के अनुसार, इस घोटाले में 63 दिनों में ही 143 एलओयू जारी कर दिए गए थे। पूछताछ में यह भी सामने आया है कि इस घोटाले में ना सिर्फ पीएनबी के अधिकारी बल्कि नीरव मोदी और मेहुल चौकसी के कर्मचारी भी शामिल थे।

इन तीन लोगों को किया गया है गिरफ्तार

गौरतलब है कि शनिवार को सीबीआइ ने तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है, जिनमें पीएनबी के तत्कालीन डिप्टी मैनेजर गोकुलनाथ शेट्टी, सिंगल विंडो ऑपरेटर मनोज खरात व नीरव मोदी की कंपनी का अधिकृत हस्ताक्षरकर्ता कर्मचारी हेमंत भट्ट शामिल है। उधर, मीडिया रिपोर्टो में कहा गया है कि मुख्य आरोपी नीरव मोदी न्यूयॉर्क की आलीशान होटल में अमेरिकी पत्नी एमी संग छिपा बैठा है।

ब्राडी रोड ब्रांच की जांच, बढ़ सकती है घोटाले की राशि 
मुंबई की एक विशेष अदालत ने तीनों गिरफ्तार आरोपियों को तीन मार्च तक सीबीआइ की रिमांड पर सौंप दिया। सीबीआइ को इस मामले में पीएनबी के कुछ और अफसरों के लिप्त होने और घोटाले की राशि और बढ़ने का शक है। सीबीआइ ने शनिवार को मुंबई में बैंक की ब्राडी रोड ब्रांच की जांच की। जांच अधिकारियों ने बैंक के आंतरिक सॉफ्टवेयर के बारे में भी जानकारी ली, जिसके जरिए फंड ट्रांसफर की सूचना अंतरराष्ट्रीय स्तर पर दूसरी बैंकों को भेजी गई थी।

नीरव मोदी को लाने में जुटा वित्त मंत्रायल, पीएमओ 
घोटाले के मास्टरमाइंड नीरव मोदी को लाने के प्रयास सरकार ने तेज कर दिए हैं। वित्त मंत्रालय व पीएमओ इस बारे में सक्रिय रूप से जुटा है। वित्त राज्यमंत्री एसपी शुक्ला ने बताया कि पीएमओ इस बारे में जो भी फैसला करेगा, मंत्रालय उस पर अमल करेगा।
पीएनबी घोटाले में 25 करोड़ की संपत्ति और जब्त 
ईडी ने देशभर में नीरव मोदी और मेहुल चौकसी के 21 और ठिकानों पर छापे मारकर 25 करोड़ से ज्यादा की संपत्ति जब्त की। अब तक 5,674 करो़ड़ रुपए की कुल संपत्ति जब्त हो चुकी है। उधर आयकर विभाग ने चौकसी और गीतांजलि समूह के 9 बैंक खाते जब्त कर लिए हैं। इनमें 80 लाख रुपए जमा होने की जानकारी मिली है। विभाग ने शुक्रवार को नीरव मोदी की 29 संपत्तियां व 105 खाते जब्त कर लिए थे।

2017-18 में एलओयू का हुआ था नवीनीकरण 
नीरव मोदी, उनकी कंपनियों व मामा मेहुल चौकसी की कंपनियों के खिलाफ 31 जनवरी को पहली एफआइआर दर्ज हुई थी। शनिवार को की गई गिरफ्तारी इसी केस में है। पहली एफआइआर 280 करोड़ रुपए के आठ धोखाधड़ीपूर्ण लेनदेन की थी, लेकिन सीबीआइ ने बताया कि जांच में यह 150 फर्जी लेटर्स ऑफ अंडरटेकिंग (एलओयू) और कुल 6,498 करोड़ रुपए की धोखाधड़ी हो गई है।

Loading...

ये एलओयू शेट्टी व खरात ने जारी किए थे। शेष 150 फर्जी एलओयू, जो 4,886 करो़ड़ रुपए के हैं, वो गीतांजलि कंपनी समूह के लिए जारी हुए थे। ये 17 फरवरी को दर्ज दूसरी एफआइआर से संबंधित हैं। इसमें मेहुल चौकसी और उनकी कंपनियों गीतांजलि जेम्स, नक्षत्र ब्रांड व जिली इंडिया लि. आरोपी हैं। सीबीआइ के अनुसार उक्त सभी एलओयू 2017–18 में या तो जारी हुए थे या उनका नवीनीकरण हुआ था।

न्यूयॉर्क की होटल में नीरव मोदी कर रहा ऐश? 
सीबीआइ ने देश से भाग निकले नीरव मोदी और मेहुल चौकसी का पता लगाने के लिए इंटरपोल से मदद मांगी है, लेकिन अधिकृत तौर पर अभी कोई सूचना नहीं दी गई है। शनिवार को आई मीडिया रिपोर्ट के अनुसार नीरव मोदी न्यूयॉर्क की महंगी होटल जे डब्ल्यू मैरियट एसेक्स हाउस में ऐश कर रहा है। नीरव की पत्नी एमी अमेरिकी है। रिपोर्ट में कहा गया है कि नीरव होटल की 36वीं मंजिल के सुईट में है, जिसका किराया करीब 75 हजार रुपए रोज है। होटल को 67 लाख रपए में तीन माह के लिए बुक किए जाने की भी खबर है।

22 हजार करोड़ के घोटाले पर पीएम मौन क्यों: राहुल 
कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने एक बार फिर पीएम नरेंद्र मोदी पर तीर दागे। शनिवार को पार्टी की संचालन समिति की बैठक के बाद उन्होंने कहा कि नीरव मोदी देश का 22 हजार करो़ड़ रुपया लेकर भाग गया और पीएम व वित्तमंत्री ने अब तक कोई बयान नहीं दिया। राहुल ने कहा कि पीएम बच्चों से डेढ घंटा चर्चा करते हैं, मगर यह नहीं बताते हैं कि नीरव मोदी कैसे 22 हजार करो़ड़ लेकर चला गया।

पीएनबी घोटाले से इटली की बैंक भी प्रभावित 
इस घोटाले में एकमात्र विदेशी बैंक इटली की इंटेसा सानपाओला एसपीए भी प्रभावित हुई है। इस बैंक की हांगकांग शाखा ने पीएनबी द्वारा जारी फॉरेन लेटर ऑफ क्रेडिट (एफएलसी) पर गीतांजलि जेम्स को 2,200,011 डॉलर (करीब 14.08 करो़ड़ रुपए) उपलब्ध कराए थे।

12 राज्यों में ईडी के छापे, मिले अहम दस्‍तावेज 
शनिवार को राजस्थान, बंगाल, बिहार, झारखंड, जम्मू-कश्मीर व उप्र समेत 12 राज्यों के कई शहरों में प्रवर्तन निदेशालय ने गीतांजलि फ्रेंचाइजी के शोरूम पर छापे मारे। यहां से अहम दस्तावेज व आभूषण जब्त किए गए। राजस्थान के भरतपुर स्थित पीएनबी शाखा के मुख्य प्रबंधक आरके जैन और सर्किल कार्यालय में कार्यरत अधिकारी पीसी सोनी को निलंबित कर दिया गया है। निलंबन के बाद से दोनों अपने घर से नदारद हैं।

Loading...
E-Paper