अनिल अंबानी ने AAP नेता संजय सिंह को भेजा 5000 करोड़ का मानहानि नोटिस

- in राष्ट्रीय

नई दिल्ली: रिलायंस-धिरूभाई अंबानी ग्रुप के प्रमुख अनिल अंबानी ने आम आदमी पार्टी (आप) के नेता और राज्‍यसभा सदस्‍य संजय सिंह को 5,000 करोड़ रुपये का मानहानि नोटिस भेजा है. अनिल अंबानी का आरोप है कि झूठे आरोप लगाकर संजय सिंह उनकी कंपनी को राफेल डील में खींचा था.

उद्योगपति अनिल अंबानी का कहना है कि AAP सांसद संजय सिंह के आरोपों से उनकी छवि को नुकसान पहुंचा है. वहीं आप नेता संजय सिंह ने कहा है कि वह अपनी बात पर कायम हैं और वे किसी बंदर घुड़की में नहीं आएंगे. अनिल अंबानी के नोटिस के बारे में खुद संजय सिंह ने ट्वीट करके कहा है, ‘उद्योगपतियों की दबंगई चरम पर है. पहले घोटाला करेंगे और फिर उसके खिलाफ आवाज उठाने वालों पर मानहानि का दावा ठोकेंगे.

‘उद्योगपतियों की दबंगई चरम पर है, पहले घोटाला करेंगे, फिर उसके ख़िलाफ़ आवाज़ उठाने वालों पर मानहानि करेंगे. राफ़ेल रक्षा सौदे का घोटाला उजागर करने पर अंबानी ने मेरे ऊपर देश का सबसे बड़ा 5000 करोड़ का मानहानि नोटिस भेजा है. मैं अपनी बात पर क़ायम हूं बंदर घुड़की नहीं चलेगी.

राफेल डील पर उठाए थे सवाल

बता दें कि आप नेता और राज्यसभा से सांसद संजय सिंह ने 13 फरवरी को एक पत्रकार वार्ता कर कहा था कि भारत और फ्रांस में 36 राफेल विमानों को लेकर 56000 करोड़ की डील हुई है. इसमें रिलायंस डिफेंस लिमिटेड फ्रांस की एविएशन कंपनी डसॉल्ट एविएशन को 22000 करोड़ का कॉन्ट्रैक्ट मिलने का आरोप लगाया गया है.

300 फीसदी बढ़ गई कीमत

संजय सिंह ने बताया कि मोदी सरकार ने 59,000 करोड़ रुपये की लागत से 36 लड़ाकू विमान खरीदने का समझौता किया था. इस लिहाज से एक विमान की कीमत 1,640 करोड़ रुपये होती है. उन्होंने सवाल उठाया कि विमान में ऐसी कौन सी तकनीक जोड़ दी गई कि विमान की कीमत में 300 फीसदी तक बढ़ गई.

उन्होंने कहा कि अनिल अंबानी की कंपनी रिलायंस डिफेंस को विमान का कल-पुर्जा बनाने के लिए 22,000 हजार करोड़ रुपये का ठेका दिया गया. उन्‍होंने दावा किया था कि कंपनी को इस क्षेत्र में एक साल से भी कम का अनुभव है. संजय सिंह ने आरोप लगाया कि इन सभी बातों से यह साबित होता है कि यह डील घोटालों का करार है.

बता दें कि आम आदमी पार्टी के नेता पहले से ही वित्त मंत्री अरुण जेटली के 10 करोड़ के मानहानि केस से उबर नहीं पा रहे हैं कि संजय सिंह पर एक और मामले ने पार्टी की मुसीबतों को और बढ़ा दिया है.

Loading...