यूपी के टूरिज्म पर CM योगी का फोकस, अधिकारियों को दिए अहम निर्देश

लखनऊ. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने केंद्र सरकार द्वारा प्रदेश के पर्यटन विकास के लिए स्वीकृत योजनाओं को तेजी से पूरा करने के निर्देश दिए हैं. सीएम ने कहा है कि निर्माण कार्यों को जल्द से जल्द वक्त पर और गुणवत्ता के साथ पूरा किया जाए. उन्होंने इन कार्यों में रुचि नहीं लेने वाली निर्माण एजेंसियों के खिलाफ कार्रवाई किए जाने की भी बात कही है.

मुख्यमंत्री ने गुरुवार देर रात शास्त्री भवन में केंद्रीय पर्यटन सचिव रश्मि वर्मा के साथ बैठक के दौरान अधिकारियों को निर्देश दिया. बैठक के बाद देर रात जारी बयान के मुताबिक योगी ने कहा कि उत्तर प्रदेश पर्यटन की दृष्टि से देश का सर्वाधिक संभावनाओं वाला राज्य है. उन्होंने काशी, अयोध्या, मथुरा, नैमिशारण्य, विंध्याचल, शुक्रताल, दुधवा आदि का उदाहरण देते हुए कहा कि यहां पर प्राकृतिक, धार्मिक, आध्यात्मिक दृष्टि से पर्यटन विकास के पर्याप्त अवसर हैं. 

उन्होंने केंद्रीय पर्यटन सचिव से गोरखपुर, नैमिशारण्य एवं गोवर्धन तीर्थ (मथुरा) आदि के लिए भारत सरकार को पूर्व में प्रेषित प्रस्तावों की धनराशि स्वीकृत करने का अनुरोध भी किया. बैठक के दौरान मुख्यमंत्री ने कहा कि कुंभ-2019 एक महत्वपूर्ण और विशिष्ट आयोजन है. इसका पौराणिक, धार्मिक और आध्यात्मिक महत्व है.

Loading...

उन्होंने कहा कि प्रयागराज के कुंभ में सर्वाधिक संख्या में श्रद्घालु आते हैं. अभी से कार्ययोजना बनाकर काम करने पर बड़ी संख्या में पर्यटकों को इस आयोजन के लिए आकर्षित किया जा सकता है. राज्य सरकार इसे दिव्य और भव्य ढंग से आयोजित करना चाहती है. उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि कुंभ-2019 के लिए अतिरिक्त धनराशि नीति आयोग से प्राप्त करने के प्रयास किए जाएं. समस्त देशों के राजदूतों व उच्चायुक्तों को कुंभ-2019 में आमंत्रित किया जाए और उन्हें कुंभ के महत्व से परिचित कराने वाली फिल्म दिखाई जाए.

Loading...
E-Paper