मोगा सेक्स स्कैंडल से जुड़ रहे डबल मर्डर के तार, जानिए क्या है पूरा मामला

- in पंजाब, प्रदेश

जीरा कस्बे के गांव पंडोरी खत्रिया में शुक्रवार सुबह की गई दंपती की हत्या के तार मोगा सेक्स स्कैंडल से जुड़ रहे हैं। आइजी फिरोजपुर रेंज एमएस छीना ने इस मामले में एसएसपी फिरोजपुर की अगुआई में एसआइटी गठित की है। एसआइटी में एसपी इन्वेस्टिगेशन फिरोजपुर, डीएसपी सिटी फिरोजपुर, डीएसपी जीरा व एसएचओ सदर जीरा को शामिल किया गया है।जीरा कस्बे के गांव पंडोरी खत्रिया में शुक्रवार सुबह की गई दंपती की हत्या के तार मोगा सेक्स स्कैंडल से जुड़ रहे हैं। आइजी फिरोजपुर रेंज एमएस छीना ने इस मामले में एसएसपी फिरोजपुर की अगुआई में एसआइटी गठित की है। एसआइटी में एसपी इन्वेस्टिगेशन फिरोजपुर, डीएसपी सिटी फिरोजपुर, डीएसपी जीरा व एसएचओ सदर जीरा को शामिल किया गया है।  मृतका प्रभदीप कौर का असली नाम मनजीत कौर था। वह 2007 में बहुचर्चित मोगा सेक्स स्कैंडल की मुख्य आरोपित थी। बाद में वह गवाह बन गई थी। 2013 में मनजीत कौर जमानत पर जेल से छूटकर बाहर आई। उसने अपना नाम बदलकर प्रभदीप कौर रख लिया और पति राजप्रीत के साथ जीरा के खत्रिया गांव में रहने लगी। उसकी शादी को करीब 20 साल हो चुके थे। अब वह आठ महीने की गर्भवती थी।  क्या था मोगा सेक्स स्कैंडल   2007 में मनजीत कौर और मनप्रीत कौर सहित कुछ महिलाओं ने मोगा के कई बड़े लोगों को हुस्न के जाल में फंसाया और फिर पुलिस अधिकारियों की मदद से ब्लैकमेल कर उनसे वसूली की। सेक्स स्कैंडल में मोगा के अकाली नेता एवं पूर्व कृषि मंत्री तोता सिंह के बेटे बरजिंदर सिंह उर्फ मक्खन बराड़, एसएसपी दविंदर सिंह गरचा, एसपी परमदीप सिंह संधू, डीएसपी रमन कुमार सहित कुछ अन्य लोगों के नाम भी शामिल हैं। मामले की जांच सीबीआइ कर रही है। अदालत आरोपितों पर आरोप भी तय कर चुकी है।   भगवान तीर्थकर ने रथ में विराजमान हो नगर का भ्रमण किया यह भी पढ़ें .30 बोर की पिस्टल से मारी गई गोलियां    सौ लोगों ने करवाई स्वास्थ्य की जांच यह भी पढ़ें पुलिस के अनुसार कातिलों ने .30 बोर और प्वाइंट ब्लैक रेंज से गोली मारकर दंपती की हत्या की है। प्रारंभिक जांच में ये काम किसी प्रोफेशनल किलर का लग रहा है। हत्या करने वाले तीन लोग थे। तीनों ने नकाब पहन रखा था। पुलिस के हाथ सीसीटीवी फुटेज लगी है। जांच में यह सामने आया है कि दोनों के मुंह में पिस्टल डालकर गोली मारी गई थी।  हर रोज की प्रगति रिपोर्ट देगी एसआइटी : आइजी   26 एमएम बरसे बादल, गलियों में जलभराव यह भी पढ़ें  आइजी मुखविंदर सिंह छीना का कहना है कि मोगा सेक्स स्कैंडल में कई हाई प्रोफाइल लोगों के नाम हैं। मनजीत कौर मामले की मुख्य आरोपित थी। बाद में वह गवाह बन गई थी। इसलिए जांच के लिए एसआइटी गठित की गई है। एसआइटी रोज रिपोर्ट देगी।

मृतका प्रभदीप कौर का असली नाम मनजीत कौर था। वह 2007 में बहुचर्चित मोगा सेक्स स्कैंडल की मुख्य आरोपित थी। बाद में वह गवाह बन गई थी। 2013 में मनजीत कौर जमानत पर जेल से छूटकर बाहर आई। उसने अपना नाम बदलकर प्रभदीप कौर रख लिया और पति राजप्रीत के साथ जीरा के खत्रिया गांव में रहने लगी। उसकी शादी को करीब 20 साल हो चुके थे। अब वह आठ महीने की गर्भवती थी।

क्या था मोगा सेक्स स्कैंडल

2007 में मनजीत कौर और मनप्रीत कौर सहित कुछ महिलाओं ने मोगा के कई बड़े लोगों को हुस्न के जाल में फंसाया और फिर पुलिस अधिकारियों की मदद से ब्लैकमेल कर उनसे वसूली की। सेक्स स्कैंडल में मोगा के अकाली नेता एवं पूर्व कृषि मंत्री तोता सिंह के बेटे बरजिंदर सिंह उर्फ मक्खन बराड़, एसएसपी दविंदर सिंह गरचा, एसपी परमदीप सिंह संधू, डीएसपी रमन कुमार सहित कुछ अन्य लोगों के नाम भी शामिल हैं। मामले की जांच सीबीआइ कर रही है। अदालत आरोपितों पर आरोप भी तय कर चुकी है।

.30 बोर की पिस्टल से मारी गई गोलियां

Loading...

पुलिस के अनुसार कातिलों ने .30 बोर और प्वाइंट ब्लैक रेंज से गोली मारकर दंपती की हत्या की है। प्रारंभिक जांच में ये काम किसी प्रोफेशनल किलर का लग रहा है। हत्या करने वाले तीन लोग थे। तीनों ने नकाब पहन रखा था। पुलिस के हाथ सीसीटीवी फुटेज लगी है। जांच में यह सामने आया है कि दोनों के मुंह में पिस्टल डालकर गोली मारी गई थी।

हर रोज की प्रगति रिपोर्ट देगी एसआइटी : आइजी

आइजी मुखविंदर सिंह छीना का कहना है कि मोगा सेक्स स्कैंडल में कई हाई प्रोफाइल लोगों के नाम हैं। मनजीत कौर मामले की मुख्य आरोपित थी। बाद में वह गवाह बन गई थी। इसलिए जांच के लिए एसआइटी गठित की गई है। एसआइटी रोज रिपोर्ट देगी।

Loading...