आज शनि भगवान की पूजा में गाये यह आरती, होंगे सब कष्ट दूर

- in धर्म

शनिवार को लोग अलग-अलग तरह के टोटके करते हैं और उनके उन टोटकों के कारण उनके जीवन में खुशियां आ जाती हैं. ऐसे में शनिवार के दिन को भगवान शनि का दिन माना जाता है और यह दिन बहुत अच्छा होता है उन लोगों के लिए जो इस दिन भगवान शनि की पूजा और आरती करते हैं.शनिवार को लोग अलग-अलग तरह के टोटके करते हैं और उनके उन टोटकों के कारण उनके जीवन में खुशियां आ जाती हैं. ऐसे में शनिवार के दिन को भगवान शनि का दिन माना जाता है और यह दिन बहुत अच्छा होता है उन लोगों के लिए जो इस दिन भगवान शनि की पूजा और आरती करते हैं. अब आज शनिवार है ऐसे में आज शनि देव की पूजा करने से शनि के कुप्रभाव का प्रभाव जीवन में नहीं पडता और भारी मात्रा में लाभ मिलता है. ऐसे में अगर आपके जीवन में ऐसी स्थिति बनती है जब सही गलत समझ नहीं आता है तो आपको ऐसाी स्थिति से बाहर निकलने के लिए शनि देव प्रार्थना करनी चाहिए इससे सही राह मिलती है. आप चाहे तो शनि को न्याय के मामले में भी याद कर सकते हैं क्योंकि उन्हें न्याय का देवता माना गया है। अब आज सुबह या शाम को आप भगवान शनि को प्रसन्न करने के लिए इस आरती से उनकी पूजा संपन्न करेंगे तो आपको लाभ मिलेगा. तो आइए देखते हैं वह आरती.   मारवाड़ी SONG : आज तेजाजी चढग्या अरे गाया वाली वार  जय जय श्री शनिदेव भक्तन हितकारी। सूर्य पुत्र प्रभु छाया महतारी॥ जय जय श्री शनि देव…. श्याम अंग वक्र-दृ‍ष्टि चतुर्भुजा धारी। नीलाम्बर धार नाथ गज की असवारी॥ जय जय श्री शनि देव…. क्रीट मुकुट शीश राजित दिपत है लिलारी। मुक्तन की माला गले शोभित बलिहारी॥ जय जय श्री शनि देव…. मोदक मिष्ठान पान चढ़त हैं सुपारी। लोहा तिल तेल उड़द महिषी अति प्यारी॥ जय जय श्री शनि देव…. देव दनुज ऋषि मुनि सुमिरत नर नारी। विश्वनाथ धरत ध्यान शरण हैं तुम्हारी॥ जय जय श्री शनि देव भक्तन हितकारी।।

अब आज शनिवार है ऐसे में आज शनि देव की पूजा करने से शनि के कुप्रभाव का प्रभाव जीवन में नहीं पडता और भारी मात्रा में लाभ मिलता है. ऐसे में अगर आपके जीवन में ऐसी स्थिति बनती है जब सही गलत समझ नहीं आता है तो आपको ऐसाी स्थिति से बाहर निकलने के लिए शनि देव प्रार्थना करनी चाहिए इससे सही राह मिलती है. आप चाहे तो शनि को न्याय के मामले में भी याद कर सकते हैं क्योंकि उन्हें न्याय का देवता माना गया है। अब आज सुबह या शाम को आप भगवान शनि को प्रसन्न करने के लिए इस आरती से उनकी पूजा संपन्न करेंगे तो आपको लाभ मिलेगा. तो आइए देखते हैं वह आरती. 

Loading...

जय जय श्री शनिदेव भक्तन हितकारी।
सूर्य पुत्र प्रभु छाया महतारी॥
जय जय श्री शनि देव….
श्याम अंग वक्र-दृ‍ष्टि चतुर्भुजा धारी।
नीलाम्बर धार नाथ गज की असवारी॥
जय जय श्री शनि देव….
क्रीट मुकुट शीश राजित दिपत है लिलारी।
मुक्तन की माला गले शोभित बलिहारी॥
जय जय श्री शनि देव….
मोदक मिष्ठान पान चढ़त हैं सुपारी।
लोहा तिल तेल उड़द महिषी अति प्यारी॥
जय जय श्री शनि देव….
देव दनुज ऋषि मुनि सुमिरत नर नारी।
विश्वनाथ धरत ध्यान शरण हैं तुम्हारी॥
जय जय श्री शनि देव भक्तन हितकारी।।

Loading...