विजय हजारे ट्रॅाफी में शतकवीर करनवीर ने दिलाई पहली जीत

- in उत्तराखंड, प्रदेश

विजय हजारे ट्रॅाफी में उत्तराखंड ने सलामी बल्लेबाज करनवीर कौशल के शानदार शतक की बदौलत पुडुचेरी को 64 रन से हराकर बीसीसीआइ के घरेलू सत्र में अपनी पहली जीत दर्ज की। करनवीर को 114 गेंदों में नौ चौके और दो छक्के की मदद से 100 रनों की पारी खेलने के लिए प्लेयर ऑफ द मैच चुना गया। विजय हजारे ट्रॅाफी में शतकवीर करनवीर ने दिलाई पहली जीत

विजय हजारे ट्रॉफी में उत्तराखंड टीम को पहले मैच में बिहार के हाथों पाच विकेट से हार का सामना करना पड़ा था। घरेलू टूर्नामेंट में पहली बार खेल रही उत्तराखंड की बल्लेबाजी दबाव में बिखर गई थी। लेकिन, दूसरे मैच में बल्लेबाजों ने खुलकर खेल दिखाया। 

शास्त्री मैदान गुजरात में उत्तराखंड और पुडुचेरी के बीच खेले गए दूसरे मैच में पुडुचेरी ने टॉस जीतकर उत्तराखंड को बल्लेबाजी के लिए आमंत्रित किया। हालाकि पहले मैच में अर्द्धशतकीय पारी खेलने वाले सलामी बल्लेबाज विनीत सक्सेना मात्र एक रन बनाकर पवेलियन लौट गए। करनवीर और वैभव भट्ट ने पारी को आगे बढ़ाया। 

दोनों ने दूसरे विकेट के लिए 173 रनों की साझेदारी निभाई। 175 के योग पर करनवीर शतकीय पारी खेलकर पंकज सिंह की गेंद पर एलबीडब्ल्यू हो गए। वैभव भट्ट ने 73 रनों की शानदार पारी खेली।

मध्यक्रम में मालोलन रंगराजन (नाबाद 36) और सौरव रावत (35) ने भी अच्छी साझेदारी निभाई। उत्तराखंड के कप्तान रजत भाटिया (10) एक बार फिर बड़ी पारी खेलने में नाकाम रहे। उत्तराखंड ने निर्धारित 50 ओवर में सात विकेट के नुकसान पर 290 रन बनाए। 

Loading...

पुडुचेरी के लिए पंकज सिंह सबसे सफल गेंदबाज रहे। उन्होंने तीन विकेट हासिल किए। नारायणन ने दो विकेट चटकाए। मध्यक्रम में लड़खड़ाई पुडुचेरी लक्ष्य का पीछा करने उतरी पुडुचेरी को गोविंदराजन (58) और डी. रोहित (23) ने सधी शुरुआत दी। 

दूसरे नंबर पर खेलने आए अभिषेक नायर (94) ने अच्छी पारी खेलते हुए टीम को जीत दिलाने का प्रयास किया। लेकिन, टीम का मध्यक्रम लड़खड़ा गया। पूरी टीम 45.2 ओवर में 226 रन पर सिमट गई। उत्तराखंड के लिए सन्नी राणा ने चार, दीपक धपोला ने दो, धनराज शर्मा, मालोलन रंगराजन और मयंक मिश्रा ने एक-एक विकेट हासिल किया। 

 

Loading...