नन यौनशोषण मामले में मुलक्कल की गिरफ्तारी,बिशप हाउस के बाहर लड्डू बांटकर खुश हुए ईसाई

- in पंजाब, प्रदेश

नन यौनशोषण मामले में डायोसिस ऑफ जालंधर के पूर्व बिशप फ्रैंको मुलक्कल की केरल में गिरफ्तारी के बाद ईसाई समुदाय के लोग खुश हैं। लोगों ने बीएमसी चौक के पास स्थित बिशप हाउस के बाहर लड्डू बांटकर खुशी मनाई और कार्रवाई को सही करार दिया। उन्होंने कहा कि मुलक्कल की गिरफ्तारी के बाद पीडि़त नन को इंसाफ जरूर मिलेगा।नन यौनशोषण मामले में मुलक्कल की गिरफ्तारी,बिशप हाउस के बाहर लड्डू बांटकर खुश हुए ईसाई

मौके पर मौजूद हमीद मसीह ने कहा कि पीड़ित नन मामले में यह दूसरी सबसे बड़ी जीत है। पहली जीत उस दिन हुई थी जब फ्रैंको को बिशप पद से हटाया गया था। हमें कानून पर पूरा भरोसा है। पीड़ित नन को इंसाफ जरूर मिलेगा। सुखदेव मसीह ने कहा कि फ्रैंको मुलक्कल ईसाई धर्म के सबसे बड़े ओहदे पर थे। उनसे हमेशा समाज को यह उम्मीद थी कि वे सभी को पाप से दूर रहने की शिक्षा देंगे लेकिन फ्रैंको तो खुद ही संगीन मामले में घिर चुके हैं।

पीटर सहोता ने कहा कि कानून सबके लिए एक है। नन यौन शोषण के आरोपित फ्रैंको को तो पुलिस को उसी दिन गिरफ्तार कर लेना चाहिए था, जिस दिन संगीन आरोपों के तहत उन पर मामला दर्ज हुआ था। उन्हें खुशी है कि अब उसे गिरफ्तार कर लिया गया है। बता दें कि मामला सुर्खियों में आने के बाद केरल से लेकर जालंधर तक ईसाई समुदाय के लोग फ्रैंको मुलक्कल की गिरफ्तारी के लिए लगातार प्रदर्शन कर रहे थे।

कब क्या हुआ

29 जून : नन ने केरल कोïट्टायम जिले के एक थाने में बिशप मुलक्कल के खिलाफ शिकायत दी। आरोप लगाया कि बिशप ने 2014-16 के बीच उसके साथ 13 बार दुष्कर्म किया।

10 अगस्त : केरल पुलिस की एक टीम आरोपित बिशप फ्रैंको मुलक्कल से पूछताछ करने जालंधर पहुंची।

13 अगस्त : केरल पुलिस की टीम ने बिशप हाउस में फ्रैंको मुलक्कल से देर रात तक लगातार 9 घंटे पूछताछ की।

Loading...

19 सितंबर : केरल पुलिस की विशेष जांच टीम ने बिशप से पूछताछ शुरू की।

 चौतरफा दबाव के बीच पोप फ्रांसिस ने आरोपित फ्रैंको मुलक्कल को बिशप के पद से मुक्त किया।

 केरल पुलिस ने तीन दिन तक पूछताछ करने के बाद फ्रैंको मुलक्कल को गिरफ्तार कर लिया।

मुलक्कल के अनुयायियों का केरल पुलिस के खिलाफ प्रदर्शन

उधर, फ्रैंको मुलक्कल की गिरफ्तारी के विरोध में शुक्रवार देर रात बीएमसी चौक स्थित बिशप हाउस के बाहर उसके अनुयायियों ने केरल पुलिस के खिलाफ प्रदर्शन कर नारेबाजी की। प्रदर्शनकारियों ने केरल पुलिस की कार्रवाई को धक्केशाही बताते हुए इसके खिलाफ कड़ा संघर्ष करने की चेतावनी दी।

प्रदर्शन कर रहे जेम्स विक्टर व डेविड ने कहा कि केरल पुलिस धक्केशाही कर रही है। उन्हें पूरा विश्वास है कि पूर्व बिशप तमाम आरोपों में निर्दोष साबित होंगे। इस अवसर पर उनके साथ सोमनाथ, बल्लू, सोनी, नवीन, जगतार, अमरजीत, ओंकार, एंथोनी, संदीप व अन्य मौजूद थे।

Loading...