भारत ने बांग्लादेश को 7 विकेट से हराया, जाडेजा बने मैन ऑफ द मैच

- in खेल

पिछले साल जुलाई के बाद पहली बार वनडे खेल रहे रविंद्र जडेजा की अगुवाई में गेंदबाजों के अनुशासित प्रदर्शन और कप्तान रोहित शर्मा की एक और दमदार अर्धशतकीय पारी से भारत ने शुक्रवार को यहां बांग्लादेश को 82 गेंदें शेष रहते हुए सात विकेट से हराकर एशिया कप सुपर फोर में अपने अभियान की जोरदार शुरुआत की.पिछले साल जुलाई के बाद पहली बार वनडे खेल रहे रविंद्र जडेजा की अगुवाई में गेंदबाजों के अनुशासित प्रदर्शन और कप्तान रोहित शर्मा की एक और दमदार अर्धशतकीय पारी से भारत ने शुक्रवार को यहां बांग्लादेश को 82 गेंदें शेष रहते हुए सात विकेट से हराकर एशिया कप सुपर फोर में अपने अभियान की जोरदार शुरुआत की.   भारत ने जीता टॉस भारत ने टॉस जीतकर बांग्लादेश को पहले बल्लेबाजी के लिये आमंत्रित किया और उसकी पूरी टीम को 49.1 ओवर में 173 रन पर ढेर कर दिया. भारत ने 36.2 ओवर में तीन विकेट पर 174 रन बनाकर आसान जीत दर्ज की. रोहित ने नाबाद 83 रन बनाये जबकि शिखर धवन ने 40 और महेंद्र सिंह धोनी ने 33 रन की पारी खेली.   जडेजा ने पेश की विश्व कप की दावेदारी चोटिल हार्दिक पंड्या की जगह टीम में लिये गये जडेजा ने मौके का पूरा फायदा उठाकर दस ओवर में 29 रन देकर चार विकेट लिये और विश्व कप टीम के लिये खुद की दावेदारी फिर से पेश की. तेज गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार (32 रन देकर तीन) और जसप्रीत बुमराह (37 रन देकर तीन) ने उनका अच्छा साथ दिया.   मेहदी-मुर्तजा ने बचाई बांग्लादेश की लाज बांग्लादेश के सात विकेट 101 रन पर निकल गये थे लेकिन मेहदी हसन मेराज (42) और कप्तान मशरफे मुर्तजा (26) ने आठवें विकेट के लिये 66 रन जोड़े जिससे उसकी टीम सम्मानजनक स्कोर तक पहुंच पायी.   भारत के बल्लेबाज़ों ने दिलाई सहज जीत भारतीय बल्लेबाजों को इसके उलट रन बनाने में कोई परेशानी नहीं हुई. रोहित ने धवन के साथ 61, अंबाती रायुडु के साथ 45 और धोनी के साथ 64 रन की तीन उपयोगी साझेदारियां की. रोहित ने 104 गेंदें खेली तथा पांच चौके और तीन छक्के लगाये. हांगकांग के खिलाफ शतक जड़ने वाले धवन ने शुरू में रन बनाने का जिम्मा उठाया. उन्होंने इस बीच मुस्ताफिजुर रहमान के बाउंसर को छह रन के लिये भी भेजा. अनुभवी शाकिब अल हसन सीधी गेंद पर बायें हाथ के इस बल्लेबाज को आउट कर दिया.   रोहित ने लगाया 36वां अर्धशतक हालांकि, शाकिब के अगले ओवर में रोहित ने ‘काउ कॉर्नर’ पर छक्का लगाया और फिर इसी गेंदबाज की गेंद डीप मिडविकेट पर छह रन के लिये भेजकर वनडे में अपना 36वां अर्धशतक पूरा किया. दूसरे छोर से गेंदबाजी का आगाज करने वाले आफ स्पिनर मेहदी हसन ने हालांकि भारतीयों को खुलकर नहीं खेलने दिया. उन्होंने लगातार दस ओवर किये तथा 38 रन दिये.   धोनी ने किया मनोरंजन रायुडु (28 गेंदों पर 13 रन) शुरू से जूझते नजर आये और आखिर में रूबेल हुसैन की गेंद पर विकेट के पीछे कैच के लिये बांग्लादेशी रिव्यू से उन्हें पवेलियन की राह पकड़नी पड़ी. रोहित ने फिर से शाकिब की गेंद छह रन के भेजी. इस आलराउंडर ने अपने 9.2 ओवर में 44 रन देकर एक विकेट लिया. धोनी चौथे नंबर पर बल्लेबाजी के लिये उतरे. दर्शकों के चहेते इस विकेटकीपर बल्लेबाज ने शुरू में स्ट्राइक रोटेट करके पूरे प्रवाह में खेल रहे रोहित को पूरा मौका दिया, लेकिन बाद में कुछ शानदार शॉट लगाकर अपने प्रशंसकों को जश्न मनाने का पूरा मौका दिया.  उन्होंने मुर्तजा पर विजयी छक्का जड़ने के प्रयास में सीमा रेखा पर कैच दिया.   सबने की अच्छी बल्लेबाजी दिनेश कार्तिक एक रन पर नाबाद रहे. इससे पहले भुवनेश्वर और बुमराह ने भारत को अच्छी शुरुआत दिलायी जबकि जडेजा ने मध्यक्रम पर कहर बरपाया जिससे बांग्लादेश का स्कोर पांच विकेट पर 65 रन हो गया. भुवनेश्वर और बुमराह ने शुरू से कसी गेंदबाजी और दोनों छोर से बल्लेबाजों पर दबाव बनाया.   गेंदबाज़ों ने दिखाया कमाल इसका उन्हें जल्द ही सकारात्मक परिणाम भी मिला जब भुवनेश्वर की गेंद पुल करने के प्रयास में लिट्टन दास (सात) ने बैकवर्ड स्क्वायर लेग पर केदार जाधव को कैच दिया. बुमराह ने अगले ओवर में दूसरे सलामी बल्लेबाज नजमुल हुसैन (सात) को स्लिप में कैच देने के लिये मजबूर किया.   जडेजा ने 10वें ओवर में गेंद थामी. शाकिब (17) ने दो चौके लगाकर उनका स्वागत किया लेकिन बायें हाथ के इस स्पिनर ने बदला चुकता करने में देर नहीं लगायी. शाकिब ने फिर से बड़ा शाट खेलने के प्रयास में स्क्वायर लेग पर खड़े धवन को आसान कैच दिया. धवन ने पारी में चार कैच लिये.   जडेजा ने इसके बाद मोहम्मद मिथुन (नौ) को पगबाधा आउट किया और फिर मुशफिकर रहीम (45 गेंदों पर 21 रन) की संघर्षपूर्ण पारी का अंत किया जिन्होंने रिवर्स स्वीप करके शार्ट थर्डमैन पर कैच थमाया.   बांग्लादेश की टीम आखिर में 32वें ओवर में 100 रन पर पहुंची. भुवनेश्वर ने इसके तुरंत बाद महमुदुल्लाह (25) को पगबाधा आउट किया हालांकि बल्लेबाज फैसले से खुश नहीं थे. जडेजा ने अपने अगले ओवर में मोसादिक हुसैन (12) को धोनी के हाथों कैच कराया. महमुदुल्लाह और मोसादिक ने छठे विकेट के लिये 36 रन जोड़े थे.   इन दोनों के चार गेंद के अंदर आउट होने के बाद मेहदी हसन और मुर्तजा ने चुनौती अच्छी तरह से स्वीकार की. शुरू में मेहदी हसन ने रन बनाने का जिम्मा उठाया जबकि मुर्तजा ने शार्ट फाइन लेग पर कैच देने से पहले भुवनेश्वर पर लगातार दो छक्के लगाये. भारत अपना अगला मैच रविवार को पाकिस्तान से खेलेगा जबकि बांग्लादेश का सामना अफगानिस्तान से होगा.पिछले साल जुलाई के बाद पहली बार वनडे खेल रहे रविंद्र जडेजा की अगुवाई में गेंदबाजों के अनुशासित प्रदर्शन और कप्तान रोहित शर्मा की एक और दमदार अर्धशतकीय पारी से भारत ने शुक्रवार को यहां बांग्लादेश को 82 गेंदें शेष रहते हुए सात विकेट से हराकर एशिया कप सुपर फोर में अपने अभियान की जोरदार शुरुआत की.   भारत ने जीता टॉस भारत ने टॉस जीतकर बांग्लादेश को पहले बल्लेबाजी के लिये आमंत्रित किया और उसकी पूरी टीम को 49.1 ओवर में 173 रन पर ढेर कर दिया. भारत ने 36.2 ओवर में तीन विकेट पर 174 रन बनाकर आसान जीत दर्ज की. रोहित ने नाबाद 83 रन बनाये जबकि शिखर धवन ने 40 और महेंद्र सिंह धोनी ने 33 रन की पारी खेली.   जडेजा ने पेश की विश्व कप की दावेदारी चोटिल हार्दिक पंड्या की जगह टीम में लिये गये जडेजा ने मौके का पूरा फायदा उठाकर दस ओवर में 29 रन देकर चार विकेट लिये और विश्व कप टीम के लिये खुद की दावेदारी फिर से पेश की. तेज गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार (32 रन देकर तीन) और जसप्रीत बुमराह (37 रन देकर तीन) ने उनका अच्छा साथ दिया.   मेहदी-मुर्तजा ने बचाई बांग्लादेश की लाज बांग्लादेश के सात विकेट 101 रन पर निकल गये थे लेकिन मेहदी हसन मेराज (42) और कप्तान मशरफे मुर्तजा (26) ने आठवें विकेट के लिये 66 रन जोड़े जिससे उसकी टीम सम्मानजनक स्कोर तक पहुंच पायी.   भारत के बल्लेबाज़ों ने दिलाई सहज जीत भारतीय बल्लेबाजों को इसके उलट रन बनाने में कोई परेशानी नहीं हुई. रोहित ने धवन के साथ 61, अंबाती रायुडु के साथ 45 और धोनी के साथ 64 रन की तीन उपयोगी साझेदारियां की. रोहित ने 104 गेंदें खेली तथा पांच चौके और तीन छक्के लगाये. हांगकांग के खिलाफ शतक जड़ने वाले धवन ने शुरू में रन बनाने का जिम्मा उठाया. उन्होंने इस बीच मुस्ताफिजुर रहमान के बाउंसर को छह रन के लिये भी भेजा. अनुभवी शाकिब अल हसन सीधी गेंद पर बायें हाथ के इस बल्लेबाज को आउट कर दिया.   रोहित ने लगाया 36वां अर्धशतक हालांकि, शाकिब के अगले ओवर में रोहित ने ‘काउ कॉर्नर’ पर छक्का लगाया और फिर इसी गेंदबाज की गेंद डीप मिडविकेट पर छह रन के लिये भेजकर वनडे में अपना 36वां अर्धशतक पूरा किया. दूसरे छोर से गेंदबाजी का आगाज करने वाले आफ स्पिनर मेहदी हसन ने हालांकि भारतीयों को खुलकर नहीं खेलने दिया. उन्होंने लगातार दस ओवर किये तथा 38 रन दिये.   धोनी ने किया मनोरंजन रायुडु (28 गेंदों पर 13 रन) शुरू से जूझते नजर आये और आखिर में रूबेल हुसैन की गेंद पर विकेट के पीछे कैच के लिये बांग्लादेशी रिव्यू से उन्हें पवेलियन की राह पकड़नी पड़ी. रोहित ने फिर से शाकिब की गेंद छह रन के भेजी. इस आलराउंडर ने अपने 9.2 ओवर में 44 रन देकर एक विकेट लिया. धोनी चौथे नंबर पर बल्लेबाजी के लिये उतरे. दर्शकों के चहेते इस विकेटकीपर बल्लेबाज ने शुरू में स्ट्राइक रोटेट करके पूरे प्रवाह में खेल रहे रोहित को पूरा मौका दिया, लेकिन बाद में कुछ शानदार शॉट लगाकर अपने प्रशंसकों को जश्न मनाने का पूरा मौका दिया.  उन्होंने मुर्तजा पर विजयी छक्का जड़ने के प्रयास में सीमा रेखा पर कैच दिया.   सबने की अच्छी बल्लेबाजी दिनेश कार्तिक एक रन पर नाबाद रहे. इससे पहले भुवनेश्वर और बुमराह ने भारत को अच्छी शुरुआत दिलायी जबकि जडेजा ने मध्यक्रम पर कहर बरपाया जिससे बांग्लादेश का स्कोर पांच विकेट पर 65 रन हो गया. भुवनेश्वर और बुमराह ने शुरू से कसी गेंदबाजी और दोनों छोर से बल्लेबाजों पर दबाव बनाया.   गेंदबाज़ों ने दिखाया कमाल इसका उन्हें जल्द ही सकारात्मक परिणाम भी मिला जब भुवनेश्वर की गेंद पुल करने के प्रयास में लिट्टन दास (सात) ने बैकवर्ड स्क्वायर लेग पर केदार जाधव को कैच दिया. बुमराह ने अगले ओवर में दूसरे सलामी बल्लेबाज नजमुल हुसैन (सात) को स्लिप में कैच देने के लिये मजबूर किया.   जडेजा ने 10वें ओवर में गेंद थामी. शाकिब (17) ने दो चौके लगाकर उनका स्वागत किया लेकिन बायें हाथ के इस स्पिनर ने बदला चुकता करने में देर नहीं लगायी. शाकिब ने फिर से बड़ा शाट खेलने के प्रयास में स्क्वायर लेग पर खड़े धवन को आसान कैच दिया. धवन ने पारी में चार कैच लिये.   जडेजा ने इसके बाद मोहम्मद मिथुन (नौ) को पगबाधा आउट किया और फिर मुशफिकर रहीम (45 गेंदों पर 21 रन) की संघर्षपूर्ण पारी का अंत किया जिन्होंने रिवर्स स्वीप करके शार्ट थर्डमैन पर कैच थमाया.   बांग्लादेश की टीम आखिर में 32वें ओवर में 100 रन पर पहुंची. भुवनेश्वर ने इसके तुरंत बाद महमुदुल्लाह (25) को पगबाधा आउट किया हालांकि बल्लेबाज फैसले से खुश नहीं थे. जडेजा ने अपने अगले ओवर में मोसादिक हुसैन (12) को धोनी के हाथों कैच कराया. महमुदुल्लाह और मोसादिक ने छठे विकेट के लिये 36 रन जोड़े थे.   इन दोनों के चार गेंद के अंदर आउट होने के बाद मेहदी हसन और मुर्तजा ने चुनौती अच्छी तरह से स्वीकार की. शुरू में मेहदी हसन ने रन बनाने का जिम्मा उठाया जबकि मुर्तजा ने शार्ट फाइन लेग पर कैच देने से पहले भुवनेश्वर पर लगातार दो छक्के लगाये. भारत अपना अगला मैच रविवार को पाकिस्तान से खेलेगा जबकि बांग्लादेश का सामना अफगानिस्तान से होगा.

भारत ने जीता टॉस
भारत ने टॉस जीतकर बांग्लादेश को पहले बल्लेबाजी के लिये आमंत्रित किया और उसकी पूरी टीम को 49.1 ओवर में 173 रन पर ढेर कर दिया. भारत ने 36.2 ओवर में तीन विकेट पर 174 रन बनाकर आसान जीत दर्ज की. रोहित ने नाबाद 83 रन बनाये जबकि शिखर धवन ने 40 और महेंद्र सिंह धोनी ने 33 रन की पारी खेली.

जडेजा ने पेश की विश्व कप की दावेदारी
चोटिल हार्दिक पंड्या की जगह टीम में लिये गये जडेजा ने मौके का पूरा फायदा उठाकर दस ओवर में 29 रन देकर चार विकेट लिये और विश्व कप टीम के लिये खुद की दावेदारी फिर से पेश की. तेज गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार (32 रन देकर तीन) और जसप्रीत बुमराह (37 रन देकर तीन) ने उनका अच्छा साथ दिया.

मेहदी-मुर्तजा ने बचाई बांग्लादेश की लाज
बांग्लादेश के सात विकेट 101 रन पर निकल गये थे लेकिन मेहदी हसन मेराज (42) और कप्तान मशरफे मुर्तजा (26) ने आठवें विकेट के लिये 66 रन जोड़े जिससे उसकी टीम सम्मानजनक स्कोर तक पहुंच पायी.

भारत के बल्लेबाज़ों ने दिलाई सहज जीत
भारतीय बल्लेबाजों को इसके उलट रन बनाने में कोई परेशानी नहीं हुई. रोहित ने धवन के साथ 61, अंबाती रायुडु के साथ 45 और धोनी के साथ 64 रन की तीन उपयोगी साझेदारियां की. रोहित ने 104 गेंदें खेली तथा पांच चौके और तीन छक्के लगाये. हांगकांग के खिलाफ शतक जड़ने वाले धवन ने शुरू में रन बनाने का जिम्मा उठाया. उन्होंने इस बीच मुस्ताफिजुर रहमान के बाउंसर को छह रन के लिये भी भेजा. अनुभवी शाकिब अल हसन सीधी गेंद पर बायें हाथ के इस बल्लेबाज को आउट कर दिया.

रोहित ने लगाया 36वां अर्धशतक
हालांकि, शाकिब के अगले ओवर में रोहित ने ‘काउ कॉर्नर’ पर छक्का लगाया और फिर इसी गेंदबाज की गेंद डीप मिडविकेट पर छह रन के लिये भेजकर वनडे में अपना 36वां अर्धशतक पूरा किया. दूसरे छोर से गेंदबाजी का आगाज करने वाले आफ स्पिनर मेहदी हसन ने हालांकि भारतीयों को खुलकर नहीं खेलने दिया. उन्होंने लगातार दस ओवर किये तथा 38 रन दिये.

धोनी ने किया मनोरंजन
रायुडु (28 गेंदों पर 13 रन) शुरू से जूझते नजर आये और आखिर में रूबेल हुसैन की गेंद पर विकेट के पीछे कैच के लिये बांग्लादेशी रिव्यू से उन्हें पवेलियन की राह पकड़नी पड़ी. रोहित ने फिर से शाकिब की गेंद छह रन के भेजी. इस आलराउंडर ने अपने 9.2 ओवर में 44 रन देकर एक विकेट लिया. धोनी चौथे नंबर पर बल्लेबाजी के लिये उतरे. दर्शकों के चहेते इस विकेटकीपर बल्लेबाज ने शुरू में स्ट्राइक रोटेट करके पूरे प्रवाह में खेल रहे रोहित को पूरा मौका दिया, लेकिन बाद में कुछ शानदार शॉट लगाकर अपने प्रशंसकों को जश्न मनाने का पूरा मौका दिया.  उन्होंने मुर्तजा पर विजयी छक्का जड़ने के प्रयास में सीमा रेखा पर कैच दिया.

Loading...

सबने की अच्छी बल्लेबाजी
दिनेश कार्तिक एक रन पर नाबाद रहे. इससे पहले भुवनेश्वर और बुमराह ने भारत को अच्छी शुरुआत दिलायी जबकि जडेजा ने मध्यक्रम पर कहर बरपाया जिससे बांग्लादेश का स्कोर पांच विकेट पर 65 रन हो गया. भुवनेश्वर और बुमराह ने शुरू से कसी गेंदबाजी और दोनों छोर से बल्लेबाजों पर दबाव बनाया.

गेंदबाज़ों ने दिखाया कमाल
इसका उन्हें जल्द ही सकारात्मक परिणाम भी मिला जब भुवनेश्वर की गेंद पुल करने के प्रयास में लिट्टन दास (सात) ने बैकवर्ड स्क्वायर लेग पर केदार जाधव को कैच दिया. बुमराह ने अगले ओवर में दूसरे सलामी बल्लेबाज नजमुल हुसैन (सात) को स्लिप में कैच देने के लिये मजबूर किया.

जडेजा ने 10वें ओवर में गेंद थामी. शाकिब (17) ने दो चौके लगाकर उनका स्वागत किया लेकिन बायें हाथ के इस स्पिनर ने बदला चुकता करने में देर नहीं लगायी. शाकिब ने फिर से बड़ा शाट खेलने के प्रयास में स्क्वायर लेग पर खड़े धवन को आसान कैच दिया. धवन ने पारी में चार कैच लिये.

जडेजा ने इसके बाद मोहम्मद मिथुन (नौ) को पगबाधा आउट किया और फिर मुशफिकर रहीम (45 गेंदों पर 21 रन) की संघर्षपूर्ण पारी का अंत किया जिन्होंने रिवर्स स्वीप करके शार्ट थर्डमैन पर कैच थमाया.

बांग्लादेश की टीम आखिर में 32वें ओवर में 100 रन पर पहुंची. भुवनेश्वर ने इसके तुरंत बाद महमुदुल्लाह (25) को पगबाधा आउट किया हालांकि बल्लेबाज फैसले से खुश नहीं थे. जडेजा ने अपने अगले ओवर में मोसादिक हुसैन (12) को धोनी के हाथों कैच कराया. महमुदुल्लाह और मोसादिक ने छठे विकेट के लिये 36 रन जोड़े थे.

इन दोनों के चार गेंद के अंदर आउट होने के बाद मेहदी हसन और मुर्तजा ने चुनौती अच्छी तरह से स्वीकार की. शुरू में मेहदी हसन ने रन बनाने का जिम्मा उठाया जबकि मुर्तजा ने शार्ट फाइन लेग पर कैच देने से पहले भुवनेश्वर पर लगातार दो छक्के लगाये. भारत अपना अगला मैच रविवार को पाकिस्तान से खेलेगा जबकि बांग्लादेश का सामना अफगानिस्तान से होगा.

Loading...