शनिवार-रविवार को उत्तर प्रदेश में मौसम सुहाना रहने की उम्मीद

उत्तर प्रदेश के कई जिलों में अचानक आसमान में बढ़ा काले बादलों का जमावड़ा धीरे-धीरे बूंदाबांदी और बारिश ने मौसम नम कर दिया। जिससे तापमान में भी गिरावट दर्ज की गई। बनारस, लखनऊ या कानपुर जोरदार बरसात से लोग बचते नजर आए। शनिवार और रविवार को भी मौसम सुहावना रहने की उम्मीद है। मौसम विभाग के अनुसार यह बदलाव अगले दो-तीन दिन बना रह सकता है। इसके बाद पूर्वी उत्तर प्रदेश में प्रभाव कुछ कम होगा लेकिन पश्चिमी उत्तर प्रदेश में बारिश की संभावना बनी रहेगी। उत्तर प्रदेश के कई जिलों में अचानक आसमान में बढ़ा काले बादलों का जमावड़ा धीरे-धीरे बूंदाबांदी और बारिश ने मौसम नम कर दिया। जिससे तापमान में भी गिरावट दर्ज की गई। बनारस, लखनऊ या कानपुर जोरदार बरसात से लोग बचते नजर आए। शनिवार और रविवार को भी मौसम सुहावना रहने की उम्मीद है। मौसम विभाग के अनुसार यह बदलाव अगले दो-तीन दिन बना रह सकता है। इसके बाद पूर्वी उत्तर प्रदेश में प्रभाव कुछ कम होगा लेकिन पश्चिमी उत्तर प्रदेश में बारिश की संभावना बनी रहेगी।   बंगाल की खाड़ी में कम दबाव के क्षेत्र  दरअसल, बंगाल की खाड़ी में विकसित कम दबाव के क्षेत्र के चलते प्रदेश के ज्यादातर क्षेत्रों में बादल छाए रहने की उम्मीद है। कहीं हल्की तो कहीं अच्छी बारिश की संभावना है। मौसम में होने वाले बदलाव का असर तापमान पर पड़ेगा। साथ ही नमी बढ़ेगी। इससे तापमान में गिरावट होगी जिससे गर्मी से कुछ राहत महसूस होगी। बताते चलें कि अगस्त माह में अच्छी बारिश के बाद सितंबर का पहला पखवारा सूखा गया। आसमान साफ होने से तेज धूप ने लोगों को परेशान किया। मौसम में हो रहे इस बदलाव से राहत मिलेगी।   नाराज मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का प्रदेश के राहत आयुक्त संजय कुमार को पद से हटाने का निर्देश यह भी पढ़ें खेतों के लिए बरसा सोना  बारिश होने से सिंचाई के लिए पानी का इंतजार कर रहे किसानों के लिए बारिश राहत लेकर आई है। समूचे यूपी में बूंदाबांदी होने से अब धान के खेतों को सिंचाई की जरूरत नहीं रह गई है। यह बारिश एक पखवारे बाद हो रही है लिहाजा किसान जो खेतों में पानी लगाने वाले थे उनका खर्चा तो बचेगा। साथ ही सब्जियों की फसल के लिए भी यह बारिश राहत लेकर आई है। इस दौरान माैसम में भी तल्खी कुछ कम हुई है।

बंगाल की खाड़ी में कम दबाव के क्षेत्र

दरअसल, बंगाल की खाड़ी में विकसित कम दबाव के क्षेत्र के चलते प्रदेश के ज्यादातर क्षेत्रों में बादल छाए रहने की उम्मीद है। कहीं हल्की तो कहीं अच्छी बारिश की संभावना है। मौसम में होने वाले बदलाव का असर तापमान पर पड़ेगा। साथ ही नमी बढ़ेगी। इससे तापमान में गिरावट होगी जिससे गर्मी से कुछ राहत महसूस होगी। बताते चलें कि अगस्त माह में अच्छी बारिश के बाद सितंबर का पहला पखवारा सूखा गया। आसमान साफ होने से तेज धूप ने लोगों को परेशान किया। मौसम में हो रहे इस बदलाव से राहत मिलेगी।

Loading...

खेतों के लिए बरसा सोना

बारिश होने से सिंचाई के लिए पानी का इंतजार कर रहे किसानों के लिए बारिश राहत लेकर आई है। समूचे यूपी में बूंदाबांदी होने से अब धान के खेतों को सिंचाई की जरूरत नहीं रह गई है। यह बारिश एक पखवारे बाद हो रही है लिहाजा किसान जो खेतों में पानी लगाने वाले थे उनका खर्चा तो बचेगा। साथ ही सब्जियों की फसल के लिए भी यह बारिश राहत लेकर आई है। इस दौरान माैसम में भी तल्खी कुछ कम हुई है।

Loading...