30 साल से नेशनल चैंपियन है लड़कियों की यह टीम, बनेगी फिल्म

- in छत्तीसगढ़, प्रदेश

भिलाई सिर्फ पिघलता लोहा ही नहीं उगलता, प्रतिभाओं को भी जन्म देता है। भिलाई की लड़कियों की बास्केटबॉल टीम पिछले 30 साल से नेशनल चैंपियन है। इस टीम के आगे देश की कोई भी दूसरी टीम टिक ही नहीं पाती।भिलाई सिर्फ पिघलता लोहा ही नहीं उगलता, प्रतिभाओं को भी जन्म देता है। भिलाई की लड़कियों की बास्केटबॉल टीम पिछले 30 साल से नेशनल चैंपियन है। इस टीम के आगे देश की कोई भी दूसरी टीम टिक ही नहीं पाती।  इन खिलाड़ियों की प्रतिभा का अब बॉलीवुड भी कायल हो गया है। बॉलीवुड अभिनेत्री लारा दत्ता इस टीम की कहानी पर एक फिल्म बनाने जा रही हैं, जिसका निर्मांण इस साल नवंबर से शुरू होगा।  यह फिल्म रेलवे की इस टीम के 30 साल से चले आ रहे जीत के सफर और कोच के संघर्ष की कहानी आधारित होगी। फिल्म में दिवंगत अंतरराष्ट्रीय कोच राजेश पटेल की भूमिका एक्टर इरफान खान निभाएंगे।  कोच के संघर्ष की कहानी  बास्केटबॉल के अंतरराष्ट्रीय कोच राजेश पटेल के परिजनों से मिलने फिल्म अभिनेत्री लारा दत्ता सितंबर के पहले पखवाड़े में भिलाई आई थी। लारा दत्ता ने कहा कि यह फिल्म 2014 के नेशनल बास्केटबॉल चैम्पियनशिप पर फोकस है।    इसमें लगातार 30 साल से विजेता भारतीय रेलवे की टीम को छत्तीसगढ़ जैसे छोटे राज्य की बेटियों ने धूल चटा दिया था। साथ ही फिल्म में अंतरराष्ट्रीय बास्केटबॉल प्रशिक्षक राजेश पटेल के जीवन पर भी फोकस किया जाएगा।  वे इंदौर में जन्म लेने के बाद कैसे भिलाई आए, भिलाई स्टील प्लांट में उनकी नौकरी और बास्केटबॉल में प्रशिक्षक के तौर पर उनका जीवन, छत्तीसगढ़ जैसे छोटे राज्य की बेटियों का सौ से ज्यादा राष्ट्रीय और अंतररष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में जीतना।  इन सभी का भी उल्लेख होगा। एक गरीब परिवार से ताल्लुक रखने वाले राजेश ने अपने संघर्ष और खेल प्रतिभा के दम पर एक अंतर्राष्ट्रीय कोच के रूप में ख्याती हासिल की थी। वे टीम की खिलाड़ियों को अपनी बेटियों की तरह प्यार देते थे और उन्हें अपने अपने परिवार का हिस्सा समझते हुए अपने घर पर ही रखते थे।  इनमें से कई लड़कियां राज्य के अलग-अलग हिस्से के आदिवासी और गरीब परिवारों से आईं और आज अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर अपना नाम कमाया है। कई लड़कियां रेलवे में अच्छे पदों पर जॉब भी कर रही हैं।  खिलाड़ियों से मिलने भिलाई आई थीं लारा  10 सितंबर को यहां पहुंची लारा दत्ता ने राजेश पटेल के परिवार के साथ करीब दो घंटे का वक्त गुजारा। दिवंगत राजेश पटेल के छोटे बेटे रोहित पटेल बताते हैं कि फिल्म में पापा का रोल इरफान खान कर सकते हैं क्योंकि पापा की भूमिका में इरफान ठीक बैठेंगे। साथ ही अभिनेत्री के नाम का खुलासा नहीं किया। इतना जरूर कहा कि फिल्म में बड़ी अभिनेत्री काम करेगी।  फिल्म की इस थीम को किया बेपर्दा  राजेश पटेल के बेटे रोहित पटेल ने कहा कि अपने भिलाई प्रवास के दौरान लारा दत्ता ने अपने द्वारा बनाई जाने वाली फिल्म पर और कई बातें कहीं। कहा कि इस फिल्म के माध्यम से यह भी बताया जाएगा कि भारत में क्रिकेट के अलावा भी प्रतिभाएं हैं।  साथ ही जिम्मेदारों से पूछा जाएगा कि आखिर सौ से ज्यादा पदक और इतने ही राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी देश को देने वाले प्रशिक्षक राजेश पटेल को द्रोणाचार्य अवॉर्ड क्यों नहीं दिया जा रहा है।  नवंबर से शुरू हो सकती है शूटिंग  रोहित पटेल ने बताया कि लारा ने कहा कि फिल्म की शूटिंग नवंबर से शुरू की जाएगी। फिल्म में भिलाई को फिल्म सिटी में क्रिएट करने के बजाए भिलाई में ही शूटिंग किया जाएगा। इसमें उनके निवास में रहने वाली बास्केटबॉल की प्रशिक्षु खिलाड़ियों, उनका घर, सेक्टर-1 स्थित बास्केटबॉल कॉम्पलेक्स और भिलाई के कुछ सीन लेंगे।

इन खिलाड़ियों की प्रतिभा का अब बॉलीवुड भी कायल हो गया है। बॉलीवुड अभिनेत्री लारा दत्ता इस टीम की कहानी पर एक फिल्म बनाने जा रही हैं, जिसका निर्मांण इस साल नवंबर से शुरू होगा।

यह फिल्म रेलवे की इस टीम के 30 साल से चले आ रहे जीत के सफर और कोच के संघर्ष की कहानी आधारित होगी। फिल्म में दिवंगत अंतरराष्ट्रीय कोच राजेश पटेल की भूमिका एक्टर इरफान खान निभाएंगे।

कोच के संघर्ष की कहानी

बास्केटबॉल के अंतरराष्ट्रीय कोच राजेश पटेल के परिजनों से मिलने फिल्म अभिनेत्री लारा दत्ता सितंबर के पहले पखवाड़े में भिलाई आई थी। लारा दत्ता ने कहा कि यह फिल्म 2014 के नेशनल बास्केटबॉल चैम्पियनशिप पर फोकस है।

इसमें लगातार 30 साल से विजेता भारतीय रेलवे की टीम को छत्तीसगढ़ जैसे छोटे राज्य की बेटियों ने धूल चटा दिया था। साथ ही फिल्म में अंतरराष्ट्रीय बास्केटबॉल प्रशिक्षक राजेश पटेल के जीवन पर भी फोकस किया जाएगा।

वे इंदौर में जन्म लेने के बाद कैसे भिलाई आए, भिलाई स्टील प्लांट में उनकी नौकरी और बास्केटबॉल में प्रशिक्षक के तौर पर उनका जीवन, छत्तीसगढ़ जैसे छोटे राज्य की बेटियों का सौ से ज्यादा राष्ट्रीय और अंतररष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में जीतना।

इन सभी का भी उल्लेख होगा। एक गरीब परिवार से ताल्लुक रखने वाले राजेश ने अपने संघर्ष और खेल प्रतिभा के दम पर एक अंतर्राष्ट्रीय कोच के रूप में ख्याती हासिल की थी। वे टीम की खिलाड़ियों को अपनी बेटियों की तरह प्यार देते थे और उन्हें अपने अपने परिवार का हिस्सा समझते हुए अपने घर पर ही रखते थे।

इनमें से कई लड़कियां राज्य के अलग-अलग हिस्से के आदिवासी और गरीब परिवारों से आईं और आज अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर अपना नाम कमाया है। कई लड़कियां रेलवे में अच्छे पदों पर जॉब भी कर रही हैं।

Loading...

खिलाड़ियों से मिलने भिलाई आई थीं लारा

10 सितंबर को यहां पहुंची लारा दत्ता ने राजेश पटेल के परिवार के साथ करीब दो घंटे का वक्त गुजारा। दिवंगत राजेश पटेल के छोटे बेटे रोहित पटेल बताते हैं कि फिल्म में पापा का रोल इरफान खान कर सकते हैं क्योंकि पापा की भूमिका में इरफान ठीक बैठेंगे। साथ ही अभिनेत्री के नाम का खुलासा नहीं किया। इतना जरूर कहा कि फिल्म में बड़ी अभिनेत्री काम करेगी।

फिल्म की इस थीम को किया बेपर्दा

राजेश पटेल के बेटे रोहित पटेल ने कहा कि अपने भिलाई प्रवास के दौरान लारा दत्ता ने अपने द्वारा बनाई जाने वाली फिल्म पर और कई बातें कहीं। कहा कि इस फिल्म के माध्यम से यह भी बताया जाएगा कि भारत में क्रिकेट के अलावा भी प्रतिभाएं हैं।

साथ ही जिम्मेदारों से पूछा जाएगा कि आखिर सौ से ज्यादा पदक और इतने ही राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी देश को देने वाले प्रशिक्षक राजेश पटेल को द्रोणाचार्य अवॉर्ड क्यों नहीं दिया जा रहा है।

नवंबर से शुरू हो सकती है शूटिंग

रोहित पटेल ने बताया कि लारा ने कहा कि फिल्म की शूटिंग नवंबर से शुरू की जाएगी। फिल्म में भिलाई को फिल्म सिटी में क्रिएट करने के बजाए भिलाई में ही शूटिंग किया जाएगा। इसमें उनके निवास में रहने वाली बास्केटबॉल की प्रशिक्षु खिलाड़ियों, उनका घर, सेक्टर-1 स्थित बास्केटबॉल कॉम्पलेक्स और भिलाई के कुछ सीन लेंगे।

Loading...