डेंगू बुखार ने ली एक मरीज की जान

- in प्रदेश, मध्यप्रदेश

बैराड़ नगर में डेंगू बुखार ने एक मजदूर की जान ले ली। नगर परिषद के वार्ड क्रमांक 7 ठाकुर बाबा मंदिर के पास निवासी शिवराज पुत्र सिरनाम परिहार (25) को तेज बुखार होने पर तीन दिन पहले जिले के एक निजी अस्पताल में भर्ती करवाया गया था। जहां उसकी स्थिति बिगड़ने पर परिजन उसे ग्वालियर के सिम्स हॉस्पिटल में ले गए यहाँ बुधवार की देर रात इलाज के दौरान शिवराज परिहार की मौत हो गई। शिवराज की मौत के बाद पूरे मोहल्ले के लोग जितने सदमे में है उतने ही आक्रोशित भी है।बैराड़ नगर में डेंगू बुखार ने एक मजदूर की जान ले ली। नगर परिषद के वार्ड क्रमांक 7 ठाकुर बाबा मंदिर के पास निवासी शिवराज पुत्र सिरनाम परिहार (25) को तेज बुखार होने पर तीन दिन पहले जिले के एक निजी अस्पताल में भर्ती करवाया गया था। जहां उसकी स्थिति बिगड़ने पर परिजन उसे ग्वालियर के सिम्स हॉस्पिटल में ले गए यहाँ बुधवार की देर रात इलाज के दौरान शिवराज परिहार की मौत हो गई। शिवराज की मौत के बाद पूरे मोहल्ले के लोग जितने सदमे में है उतने ही आक्रोशित भी है।  ADVERTISING   inRead invented by Teads मोहल्ले में जगह-जगह फैली हुई गंदगी से लोग परेशान है। डेंगू बुखार से मौत के बाद नगर परिषद के सफाई कर्मियों ने आसपास के घरों के बाहर दवा का छिड़काव किया है। लेकिन स्वास्थ्य विभाग से कोई भी वहां नहीं पहुंचा। इससे पहले भी बैराड़ नगर एवं आसपास के गाँव में 5 लोगों में डेंगू बुखार की पुष्टि हो चुकी है इसके बाद भी प्रशासन डेंगू को गंभीरता से नहीं ले रहा है। परिजनों ने डेंगू बुखार से मौत होने की पुष्टि की, लेकिन स्वास्थ्य महकमा डेंगू की पुष्टि नहीं कर रहा है।   पंचायत में आरोपितों ने कहा था, युवती की हड्डियां ही आएंगी यह भी पढ़ें  गौरतलब है कि नगर सहित तहसील क्षेत्र में लगातार डेंगू बुखार से पीडित मरीजों के मिलने के बाद भी स्वास्थ्य विभाग नगर परिषद के साथ प्रशासन भी हाथ पे हाथ धरे बैठा है स्वास्थ्य विभाग के जिम्मेदार अधिकारियों की लापरवाही का अंदाजा केवल इसी बात से ही लगाया जा सकता है कि बैराड़ नगर में डेंगू बुखार से पीड़ित मरीज मिलने के बाद भी स्वास्थ्य विभाग द्वारा ना तो अभी तक मच्छर मारने की दवाईयों का छिड़काव कराया गया है और ना ही लार्वा विनष्टीकरण के लिए कोई प्रयास किए गए हैं।

मोहल्ले में जगह-जगह फैली हुई गंदगी से लोग परेशान है। डेंगू बुखार से मौत के बाद नगर परिषद के सफाई कर्मियों ने आसपास के घरों के बाहर दवा का छिड़काव किया है। लेकिन स्वास्थ्य विभाग से कोई भी वहां नहीं पहुंचा। इससे पहले भी बैराड़ नगर एवं आसपास के गाँव में 5 लोगों में डेंगू बुखार की पुष्टि हो चुकी है इसके बाद भी प्रशासन डेंगू को गंभीरता से नहीं ले रहा है। परिजनों ने डेंगू बुखार से मौत होने की पुष्टि की, लेकिन स्वास्थ्य महकमा डेंगू की पुष्टि नहीं कर रहा है।

Loading...

गौरतलब है कि नगर सहित तहसील क्षेत्र में लगातार डेंगू बुखार से पीडित मरीजों के मिलने के बाद भी स्वास्थ्य विभाग नगर परिषद के साथ प्रशासन भी हाथ पे हाथ धरे बैठा है स्वास्थ्य विभाग के जिम्मेदार अधिकारियों की लापरवाही का अंदाजा केवल इसी बात से ही लगाया जा सकता है कि बैराड़ नगर में डेंगू बुखार से पीड़ित मरीज मिलने के बाद भी स्वास्थ्य विभाग द्वारा ना तो अभी तक मच्छर मारने की दवाईयों का छिड़काव कराया गया है और ना ही लार्वा विनष्टीकरण के लिए कोई प्रयास किए गए हैं।

Loading...