दो गुटों में पत्थरबाजी के बाद फायरिंग, कई पुलिसकर्मी घायल

- in झारखण्ड, प्रदेश

राजधानी रांची में बुधवार को दो गुटों में संघर्ष के दौरान पत्थरबाजी में कई पुुलिसकर्मी घायल हो गए। पुलिस ने इस मामले में चार लोगों को हिरासत में लिया है। वहीं, पुलिस फायरिंग के विरोध में नगर विकास मंत्री सीपी सिंह धरने पर बैठ गए हैं।राजधानी रांची में बुधवार को दो गुटों में संघर्ष के दौरान पत्थरबाजी में कई पुुलिसकर्मी घायल हो गए। पुलिस ने इस मामले में चार लोगों को हिरासत में लिया है। वहीं, पुलिस फायरिंग के विरोध में नगर विकास मंत्री सीपी सिंह धरने पर बैठ गए हैं।  जानकारी के मुताबिक, हरमू रोड स्थित कुम्हार टोली, संग्राम चौक के पास पुराने विवाद को लेकर बुधवार को जमकर बवाल हुआ है। सुबह के समय एक समुदाय के लोग आरोपित की गिरफ्तारी नहीं होने से आक्रोशित मोहल्ले के लोग एकजुट होकर सड़क जाम करने जा रहे थे। इसी दौरान बीच रास्ते में दूसरे समुदाय के लोग अचानक से पथराव करने लगे। देखते-देखते अचानक पूरे इलाके में भगदड़ मच गई। दोनों तरफ से पथराव के साथ-साथ गोली भी चलने की सूचना है।  इस घटना में सुखदेवनगर थाना के पदाधिकारी मुन्ना सिंह और वसीम घायल हो गए हैं। दोनों को इलाज के लिए अस्पताल भेज गया है। वहीं, कोतवाली डीएसपी अजित विमल कुमार के पैर में भी चोट लगी है। जबकि, कोतवाली इंस्पेक्टर श्यामानंद मंडल के दोनों मोबाइल पथराव में टूट गए हैं। सूचना मिलने के बाद सिटी एसपी अमन कुमार अतिरिक्त फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे।  –– ADVERTISEMENT ––     एक बार फि‍र भड़के सरयू राय, न‍िश‍िकांत दूबे को पैर धुलवाने पर दी नसीहत यह भी पढ़ें   लाठीचार्ज के बाद माहौल हुआ शांत   उठ उठ करमसेनी... झारखंड में कर्मा पूजा की धूम यह भी पढ़ें सिटी एसपी ने मामला शांत करने के लिए लाठीचार्ज का आदेश दिया। वरीय अधिकारी का आदेश मिलने के बाद जवानों ने पथराव करने वालों पर जम कर डंडे बरसाए। इस दौरान चार लोगों को पुलिस ने पथराव मामले में पकड़ा है। चारों को पुलिस में गुप्त स्थान पर रखा है। इसके अलावा दो महिलाओं को भी पुलिस में पकड़ा है।     बुद्धा फाउंडेशन के चेयरमैन के बयान से सीआइडी असंतुष्ट यह भी पढ़ें जानें, क्या है मामला संग्राम चौक पर मंगलवार को छेड़खानी को लेकर विवाद शुरू हुआ था। विवाद धार्मिक रंग लेने लगा। एक धार्मिक स्थल पर गलत हरकत करने की बात मोहल्ले में फैली और दोनों पक्ष एक-दूसरे के आमने-सामने आ गए थे। दोनों तरफ से लाठी-डंडों से लैस लोग एक-दूसरे से भिड़ गए, लेकिन मौके पर पहुंची पुलिस ने तुरंत मामले को संभाल लिया था। स्थिति को देखते हुए भारी संख्या में पुलिस बल की तैनाती की गई थी।

जानकारी के मुताबिक, हरमू रोड स्थित कुम्हार टोली, संग्राम चौक के पास पुराने विवाद को लेकर बुधवार को जमकर बवाल हुआ है। सुबह के समय एक समुदाय के लोग आरोपित की गिरफ्तारी नहीं होने से आक्रोशित मोहल्ले के लोग एकजुट होकर सड़क जाम करने जा रहे थे। इसी दौरान बीच रास्ते में दूसरे समुदाय के लोग अचानक से पथराव करने लगे। देखते-देखते अचानक पूरे इलाके में भगदड़ मच गई। दोनों तरफ से पथराव के साथ-साथ गोली भी चलने की सूचना है।

इस घटना में सुखदेवनगर थाना के पदाधिकारी मुन्ना सिंह और वसीम घायल हो गए हैं। दोनों को इलाज के लिए अस्पताल भेज गया है। वहीं, कोतवाली डीएसपी अजित विमल कुमार के पैर में भी चोट लगी है। जबकि, कोतवाली इंस्पेक्टर श्यामानंद मंडल के दोनों मोबाइल पथराव में टूट गए हैं। सूचना मिलने के बाद सिटी एसपी अमन कुमार अतिरिक्त फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे।

Loading...

सिटी एसपी ने मामला शांत करने के लिए लाठीचार्ज का आदेश दिया। वरीय अधिकारी का आदेश मिलने के बाद जवानों ने पथराव करने वालों पर जम कर डंडे बरसाए। इस दौरान चार लोगों को पुलिस ने पथराव मामले में पकड़ा है। चारों को पुलिस में गुप्त स्थान पर रखा है। इसके अलावा दो महिलाओं को भी पुलिस में पकड़ा है।

जानें, क्या है मामला
संग्राम चौक पर मंगलवार को छेड़खानी को लेकर विवाद शुरू हुआ था। विवाद धार्मिक रंग लेने लगा। एक धार्मिक स्थल पर गलत हरकत करने की बात मोहल्ले में फैली और दोनों पक्ष एक-दूसरे के आमने-सामने आ गए थे। दोनों तरफ से लाठी-डंडों से लैस लोग एक-दूसरे से भिड़ गए, लेकिन मौके पर पहुंची पुलिस ने तुरंत मामले को संभाल लिया था। स्थिति को देखते हुए भारी संख्या में पुलिस बल की तैनाती की गई थी।

Loading...